टूलकिट मामला में कांग्रेस के दो नेताओं को दिल्ली पुलिस ने भेजा नोटिस, राहुल बोले- ‘सत्य डरता नहीं’

216
Rahul Gandhi targets Modi Government

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी ने कथित ‘कोविड टूलकिट’ मामले में दिल्ली पुलिस की ओर से माइक्रो-ब्लॉगिंग वेबसाइट ट्विटर के कार्यालय पर छापेमारी किए जाने के एक दिन बाद मंगलवार को कहा कि सत्य डरता नहीं है। राहुल गांधी ने हैशटैग टूलकिट के साथ ट्वीट किया कि सत्य डरता नहीं। वहीं दिल्ली पुलिस ने टूलकिट मामले में कांग्रेस पार्टी से जुड़े दो लोगों को जांच में शामिल होने के लिए नोटिस भेजा है। 

टूलकिट मामले में ट्विटर के कार्यालयों पर दिल्ली पुलिस की छापेमारी के एक दिन बाद राहुल गांधी ने तंज कसते हुए ट्वीट किया, ”सत्य डरता नहीं।” साथ ही हैशटैग टूलकिट का इस्तेमाल किया।

कांग्रेस ने ट्विटर से 11 केंद्रीय मंत्रियों के ट्वीट पर कार्रवाई की मांग की
वहीं कांग्रेस ने कथित ‘कोविड टूलकिट’ मामले में मंगलवार को 11 केंद्रीय मंत्रियों के ट्वीट का हवाला देते हुए ट्विटर से आग्रह किया कि इन नेताओं को लेकर भी उसी तरह की कार्रवाई की जाए जो ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ (छेड़छाड़ किया हुए तथ्यों) और फर्जीवाड़े के दूसरे मामलों में की जाती है।

कांग्रेस महासचिव एवं मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने केंद्रीय मंत्रियों-गिरिराज सिंह, पीयूष गोयल, स्मृति ईरानी, रविशंकर प्रसाद, प्रह्लाद जोशी, धर्मेंद्र प्रधान, रमेश पोखरियाल निशंक, थावरचंद गहलोत, हर्षवर्धन, मुख्तार अब्बास नकवी और गजेंद्र सिंह शेखावत के ट्वीट के यूआरएल ट्विटर इंडिया के प्रबंधन को एक पत्र के माध्यम से भेजे हैं और कारवाई की मांग की है।

सुरजेवाला ने ट्विटर प्रबंधन को भेजे पत्र में कहा कि ‘फर्जी सामाग्री को प्रसारित करने के लिए ट्विटर के मंच के दुरुपयोग करने’ और ‘मैनिपुलेटेड मीडिया’ के दूसरे मामलों में कार्रवाई का जो मापदंड अपनाया जाता है, वही इन मंत्रियों के ट्वीट के मामलों में भी अपनाया जाए।