बिहार पंचायत चुनाव 2021: जानें किस चरण में हो सकते हैं आपके जिले में पंचायत चुनाव? वोटिंग के अगले ही दिन आएंगे नतीजे

416

बिहार में होने वाले पंचायत चुनाव को लेकर निर्वाचन आयोग की लगभग सारी तैयारियां पूरी हो गई हैं. बिहार राज्य निर्वाचन आयोग में बिहार के सभी डीएम को ईवीएम मूवमेंट प्लान भेजा है. ईवीएम मूवमेंट प्लान के मुताबिक, बिहार में 10 चरणों में चुनाव होने की संभावना जताई जा रही है. अंतिम चरण के चुनाव के संपन्‍न होने के अगले ही दिन मतगणना होगी.

निर्वाचन आयोग ने सभी डीएम से 10 मार्च तक सुझाव भेजने का निर्देश जारी किया है. आयोग के सचिव योगेंद्र राम ने निर्देश जारी करते हुए सुझाव मांगे हैं. चुनाव आयोग ने डीएम से सुझाव मांगते हुए पूछा है कि ईवीएम मिलने के बाद प्रखंड स्तर पर तैयारी और प्रखंड के बाद मतदान केंद्र तक ईवीएम भेजने की क्या तैयारी है? मतदान केंद्र की व्यवस्था और वज्र गृह की तैयारियों को भी बताने को कहा गया है. पूरे बिहार के पंचायत चुनाव में 25 हजार ईवीएम का इस्तेमाल की तैयारी की गई है.

चुनाव आयोग ने हर चरण के लिए ईवीएम मूवमेंट प्लान तैयार किया है. इसके मुताबिक, पहले चरण में मधुबनी, सुपौल, अररिया और दरभंगा में चुनाव होंगे. दूसरे चरण में मधेपुरा, किशनगंज और सीतामढ़ी में चुनाव होंगे. तीसरे चरण में समस्तीपुर, सहरसा, पूर्णिया और शेखपुरा को शामिल किया गया है. चौथे चरण में पूर्वी चंपारण, कटिहार और बेगूसराय, पांचवें चरण में मुजफ्फरपुर, खगड़िया, सारण, छठे चरण में पश्चिमी चंपारण, गोपालगंज, नालंदा और जहानाबाद, सातवें चरण में वैशाली, सीवान, भागलपुर और लखीसराय में चुनाव होंगे. पटना में आठवें चरण में चुनाव होने की संभावना है. वहीं, नौवें चरण में जमुई, भोजपुर, गया और बक्सर जबकि 10वें चरण में औरंगाबाद, अरवल, रोहतास और कैमूर में चुनाव होंगे.

बिहार चुनाव आयोग की तैयारियों के मुताबिक, जिस दिन मतदान होगा उसके अगले दिन ही या दूसरे दिन मतगणना करा कर नतीजे घोषित कर दिया जाएंगे. मतदान के बाद सभी ईवीएम वही वज्र गृह में रखे जाएंगे, जिसकी मतगणना अगले दिन ही शुरू कर दी जाएगी. चुनाव की तारीखों और तमाम व्यवस्थाओं को लेकर आयोग जल्द ही घोषणा कर सकता है.