पाकिस्तान में नए आर्मी चीफ का बड़ा फैसला, जासूसी के मामले में जेल में बंद रिटायर्ड जनरल को रिहा किया..

30
pak
pak

पाकिस्तान के नए आर्मी चीफ ने विदेशी एजेंसियों को गोपनीय जानकारी शेयर करने के दोषी एक रिटायर्ड जनरल की सजा माफ करते हुए उस एरिया जेल से रिहा कर दिया है लेफ्टिनेंट रिटायर्ड जावेद इकबाल का कहना है कि चैनल ने उसे जासूसी के आरोपों में दोषी ठहराया था इसलिए उसकी योजना इस फैसले को तब तक चुनौती देने की है जब तक कि उसे सम्मानजनक तौर पर बड़ी नहीं कर दिया जाता पाकिस्तान के नए सेना अध्यक्ष ने लेफ्टिनेंट जनरल इकबाल की सजा की समीक्षा की थी जिसके बाद उन्हें 29 दिसंबर को रावलपिंडी की अदियाला जेल से रिहा किया गया था उनके वकील उमर फारूक का कहना है कि नए नेतृत्व को उनके मुवक्किल के साथ हुए अन्याय का एहसास हुआ था

सजा को घटाकर 7 साल कर दिया था

दरअसल लेफ्टिनेंट जनरल इकबाल को 30 मई 2019 को फील्ड जनरल कोर्ट मार्शल ने 14 साल सश्रम कारावास की सजा सुनाई थी उन्हें संवेदनशील और गोपनीय जानकारी विदेशी एजेंसियों के साथ शेयर करने का दोषी ठहराया गया था लेकिन मई 2021 में अपील है अथॉरिटी ने उनकी सजा को घटाकर 7 साल कर दिया था बाद में सेना के तत्कालीन जनरल कमर जावेद बाजवा ने पिछले साल नवंबर में उनके सजा ढाई साल और घटा दी थी उन्हें इस साल 29 मई को आजाद किया जाना था लेकिन नए सैन्य प्रमुख जनरल आसिम मुनीर ने उनकी सजा माफ कर दी है और उनकी जल्द रिहाई का रास्ता साफ किया

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here