बांग्लादेश में हिंदुओं के खिलाफ हिंसा की UN ने की निंदा – सरकार से किया अल्पसंख्यकों की सुरक्षा और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने की मांग

211
UNITED NATION
UNITED NATION

बांग्लादेश (Bangladesh) में हिंदू अल्पसंख्यकों के खिलाफ हो रही हिंसा (Attack on Hindus in Bangladesh) की संयुक्त राष्ट्र (United Nations) ने निंदा की है. संयुक्त राष्ट्र ने कहा, बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदुओं पर हमले उसके संविधान में निहित मूल्यों के खिलाफ हैं. प्रधानमंत्री शेख हसीना (Sheikh Hasina) की सरकार को घटनाओं की निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने की जरूरत है. सप्ताहांत के दौरान उत्तरी जिले रंगपुर (Rangpur) में हिंसा फैलने की वजह से बांग्लादेश में सांप्रदायिक तनाव (Bangladesh Communal Tension) लगातार बना हुआ है.

बांग्लादेश में संयुक्त राष्ट्र के रेजिडेंट कोऑर्डिनेटर मिया सेप्पो (Mia Seppo) ने कहा, सोशल मीडिया पर हेट स्पीच की वजह से बांग्लादेश में हिंदुओं पर हुए हालिया हमले संविधान के मूल्यों के खिलाफ हैं और इसे रोकने की जरूरत है. हम सरकार से अल्पसंख्यकों की सुरक्षा और निष्पक्ष जांच सुनिश्चित करने का गुजारिश करते हैं. हम सभी से समावेशी सहिष्णु बांग्लादेश को मजबूत करने के लिए हाथ मिलाने का आह्वान करते हैं. पिछले कुछ दिनों से बांग्लादेश में हुई हिंसा ने अंतरराष्ट्रीय बिरादरी का ध्यान अपनी ओर खींचा है. अमेरिका ने भी इस हिंदुओं पर हमले के निंदा की है.

भारतीय उच्चायुक्त से मिला हिंदू समुदाय
सूत्रों ने द हिंदू को बताया कि इस्कॉन (ISKCON) सहित सभी समुदाय के नेताओं ने सोमवार शाम ढाका (Dhaka) में भारतीय मिशन (Indian mission) में भारतीय उच्चायुक्त विक्रम दोराईस्वामी (Vikram Doraiswamy) से मुलाकात की. ढाका स्थित संयुक्त राष्ट्र के शीर्ष अधिकारी का संदेश इस वजह से आया है, क्योंकि हाल ही में संपन्न दुर्गा पूजा समारोह के दौरान अल्पसंख्यकों हिंदुओं को टारगेट करते हुए सांप्रदायिक हिंसा देखने को मिली है. हिंसा रंगपुर जिले के पीरगंज में रविवार रात हुई, जब एक सोशल मीडिया पोस्ट को लेकर मछुआरों के गांव में आगजनी कर दी गई.

अमेरिका ने की बांग्लादेश में हुई हिंसा की निंदा
अमेरिका (America) ने बांग्लादेश में अल्पसंख्यक हिंदू समुदाय पर हमलों की हालिया रिपोर्टों की निंदा की है. विदेश विभाग के प्रवक्ता ने कहा, धर्म या विश्वास की स्वतंत्रता एक मानव अधिकार है. दुनियाभर में हर व्यक्ति, चाहे उनकी धार्मिक संबद्धता या विश्वास कुछ भी हो महत्वपूर्ण छुट्टियों को मनाने के लिए सुरक्षित और समर्थित महसूस करना चाहिए. प्रवक्ता ने कहा, विदेश विभाग बांग्लादेश में हिंदू समुदाय पर हमलों की हालिया रिपोर्टों की निंदा करता है.