अमेरिका में टिकटॉक-वीचैट से हटा बैन, राष्ट्रपति जो बाइडेन ने पलटा ट्रंप का फैसला

409

व्हाइट हाउस ने टिकटॉक और वीचैट जैसे चीनी एप्स को प्रतिबंधित करने के पूर्व राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के फैसले को पलट दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन का प्रशासन अब खुद इन एप की समीक्षा कर कोई फैसला लेगी।

बाइडन ने बुधवार को एक कार्यकारी आदेश पर हस्ताक्षर किए, जिसमें टिकटॉक और वीचैट समेत कई चीनी एप्स पर ट्रंप द्वारा लगाए गए प्रतिबंध को रद्द कर दिया गया। अब अमेरिका की वाणिज्य सचिव चीनी कंपनियों के स्वामित्व वाले इन एप्स की जांच करेंगी कि क्या इनसे अमेरिकी डाटा गोपनीयता या राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए जोखिम पैदा हो सकता है। अमेरिका में टिकटॉक के 10 करोड़ से ज्यादा उपभोक्ता हैं।

बता दें, अमेरिका और चीन के बीच चल रहे तनाव के बीच अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने चीन को एक और बड़ा झटका दिया था। ट्रंप ने चीन की आठ सॉफ्टवेयर ऐप से लेनदेन पर प्रतिबंध लगाने के आदेश पर हस्ताक्षर कर दिए थे। इसमें वीचैट पे और जैक मा के एंट ग्रुप का अलीपे भी शामिल थे।
ये सभी ऐप चीनी कंपनियों से जुड़े हुए थे। ट्रंप प्रशासन का कहना है कि इनके जरिए उपयोगकर्ताओं का डाटा चीन की सरकार तक पहुंच रहा था। यह आदेश 45 दिन के बाद प्रभावी होगा। एक वरिष्ठ अधिकारी ने कहा था कि इस संबंध में बाइडन प्रशासन से किसी तरह की चर्चा नहीं की गई थी। 

प्रशासन का कहना था कि जिन एप पर पाबंदी लगाई गई थी वो बड़ी संख्या में डाउनलोड किए जाते थे, जिसका मतलब है कि करोड़ों यूजर्स की जानकारी को लेकर खतरा हो सकता था। 

टिकटॉक पर पाबंदी लगाने के फैसले पर लगा थी रोक
इससे पहले भी अमेरिका ने चीनी एप पर प्रतिबंध लगाने के आदेश दिए थे। इसमें बाइटडांस का वीडियो एप टिकटॉक शामिल था। हालांकि, अमेरिकी कोर्ट ने शार्ट वीडियो मेकिंग एप टिकटॉक पर लगे प्रतिबंध को रोक दिया था।  बता दें कि भारत ने भी अब तक 224 चीनी एप्स को बैन कर दिया है, जिसका अमेरिकी प्रशासन और सांसदों दोनों ने स्वागत किया था।