तालिबान का यह फरमान सुनकर हो जाएंगे दंग, काबुल में दुकानदारों को ढकने पड़े पुतलो के चेहरे..

213
ttp
ttp

अफगानिस्तान में तालिबान की सत्ता में वापसी आने के बाद से महिलाओं पर हिजाब पहनने की अनिवार्यता समेत कई प्रतिबंध लगाए गए हैं अब देश की राजधानी काबुल में महिलाओं के कपड़े की दुकानों में रखे पुतलों के भी चेहरे ढके दिए गए हैं स्थानीय मीडिया ने बताया कि तालिबान ने अगस्त 2021 में सत्ता में वापसी के बाद आदेश दिया था कि सभी दुकानों से पुतले हटाए जाए या उनके सिर अलग कर दिए जाएं उसका यह आदेश इस्लामी कानून की उस कड़ी व्याख्या पर आधारित था जिसके तहत मानव रूप के पुतलो और छवियों के इस्तेमाल पर प्रतिबंध है ऐसा इसलिए क्योंकि उन्हें मूर्तियों के रूप में पूजा जा सकता है लेकिन यह महिलाओं को लोगों की नजरों से दूर रखने के लिए तालिबान के अभियान के साथ भी मेल खाता है

कपड़ों को उचित तरीके से प्रदर्शित नहीं कर पाएं

दरअसल कुछ दुकानदारों ने इस आदेश का पालन किया लेकिन अन्य ने इसका विरोध किया इन लोगों ने शिकायत की कि इस आदेश के लागू होने पर भी अपने कपड़ों को उचित तरीके से प्रदर्शित नहीं कर पाएंगे और उन्हें अपने महंगे पुतले को नष्ट करना पड़ेगा इसके बाद तालिबान को अपना आदेश में बदलाव करना पड़ा और उसने दुकानदारों को पुतलो के चेहरे ढककर इनके इस्तेमाल की अनुमति दे दी अब दुकानदारों के सामने दुविधा थी कि उन्हें आदेश का पालन भी करना था और ग्राहकों को आकर्षित भी करना था ऐसे में दुकानदारों ने एक रचनात्मक तरीका खोज निकाला और अलग-अलग तरह से ऐसे नकाब उसे अपने पुतलो को ढका जो अनन्यास ही ग्राहकों का ध्यान आकर्षित करते हैं