Yash Birthday : बस ड्राइवर का बेटा नवीन कैसे बन गया रॉकिंग स्टार यश..

127
yash
yash

रॉकिंग स्टार कहलाने वाले अभिनेता यश अब किसी भी पहचान के मोहताज नहीं है केजीएफ सीरीज के बाद से उनकी ग्लोबल इन फैन फॉलोइंग बड़ी है 8 जनवरी सन 1996 को कर्नाटक के हासन जिले के छोटे से गांव भुवानाहल्ली मैं यश का जन्म हुआ था यश का असली नाम नवीन कुमार गौड़ा है और उनके पिता सरकारी बस ड्राइवर हैं यश बचपन से ही सिनेमाई दुनिया में कुछ करना चाहते थे तो घर से ₹300 लेकर हैदराबाद आ गए थे और कोशिशें शुरू कर दी थी लेकिन तब किसी ने कहा सोचा होगा कि यह लड़का 1 दिन कन्नड़ सिनेमा ग्लोबल पहचान दिलाएगा जन्मदिन के खास मौके पर आपको बताते हैं यश के बारे कुछ बातें

यश ने खुद को बड़ा बनाने के लिए काफी मेहनत

दरअसल यश ने खुद को बड़ा बनाने के लिए काफी मेहनत की जिसकी शुरुआत नाटकों के बाद से टीवी की दुनिया तक पहुंची यस ने साल 2008 में मोगीना मानसू फिल्म से डेब्यू किया था पहली फिल्म के लिए यश ने अवार्ड भी जीता और उसके बाद कभी पीछे मुड़कर नहीं देखा यश ने राजधानी ड्रामा गोली राजा हुली मिस्टर एंड मिसेस रामाचारी मास्टर पीस जैसी फिल्मों में काम किया और दर्शकों का दिल जीता लेकिन जिस फिल्म में ना सिर्फ यश बल्कि कन्नड़ सिनेमा को नई पहचान दी वह केजीएफ.. केजीएफ के बाद केजीएफ 2 तो बॉक्स ऑफिस पर तूफानी ही ला दिया और अब फैंस के KGF 3 का इंतजार कर रहे हैं