Wipro में निवेश का अच्छा मौका, आईटी कंपनी करेगी 9500 करोड़ का शेयर बायबैक, 29 दिसंबर से खुलेगा ये ऑफर

1077

दिग्गज आईटी कंपनी विप्रो के शेयरों में निवेश करने का अच्छा मौका है. विप्रो ने मंगलवार को बताया की कंपनी शेयरों को बायबैक करने जा रही है. ये ऑफर 29 दिसंबर को खुलेगा और अगले साल 11 जनवरी 2021 को बंद हो जाएगा. कंपनी ने मेट्रो एजी के साथ स्ट्रैटजिक डिजिटल और आईटी डील साइन की है. पिछले महीने ही कंपनी के शेयरधारकों ने विप्रो के बायबैक प्लान को मंजूरी दी थी. इस प्रोग्राम के तहत कंपनी 400 रुपये प्रति शेयर के भाव से 23.75 करोड़ इक्विटी शेयरों को खरीदेगी जिसका कुल मूल्य करीब 9500 करोड़ रुपये होगा.

कंपनी ने ये जानकारियां नियामकीय फाइलिंग में दी है. फाइलिंग के मुताबिक बायबैक 29 दिसंबर 2020 को खुलेगा और अगले साल 11 जनवरी को बंद होगा. स्टॉक एक्सचेंज पर बिड्स का आखिरी सेटलमेंट 20 जनवरी को या उससे पहले होगा. विप्रो 26 दिसंबर, 2020 को या उससे पहले अपने निवेशकों को लेटर के जरिए प्रस्ताव भेजेगी.

जानकार, विप्रो के बायबैक ऑफर को अन्य के मुकाबले बेहतर बता रहे हैं और रिटेल शेयरहोल्डर्स को शेयर बेचकर शॉर्ट टर्म प्रॉफिट कमाने की सलाह दे रहे हैं. दरअसल, इसका बायबैक प्राइस बाजार भाव से खासा अधिक है और निवेशकों को अपनी तरफ खींचने के लिए काफी है.

विप्रो ने 2019 में भी शेयर बायबैक किया था. उस समय आईटी कंपनी ने 325 रुपये प्रति इक्विटी शेयर के भाव से 32.31 करोड़ शेयरों का बायबैक किया था. इस प्रोग्राम के तहत विप्रो ने करीब 10,500 करोड़ रुपये के शेयरों का बायबैक किया था.

आईटी कंपनी विप्रो की सबसे बड़ी प्रतिस्पर्धी कंपनी टाटा कंसल्टेंसी सर्विसेज (टीसीएस) ने भी शेयर बायबैक का एलान किया था. टीसीएस 3 हजार रुपये प्रति इक्विटी शेयर के भाव से शेयर बायबैक कर रही है. इसका मूल्य करीब 16 हजार करोड़ रुपये का है. कंपनी के इस ऑफर के तहत 18 दिसंबर से शेयर बायबैक में हिस्सा लिया जा सकता है. निवेशकों के लिए यह ऑफर अगले साल 1 जनवरी को बंद होगा.

TCS के शेयरों का दाम मार्च के अंतिम हफ्ते के भाव से 60 फीसदी ऊपर चल रहा है जबकि विप्रो के शेयरों की कीमत इस दौरान दोगुना हो गई है. इस शानदार परफॉर्मेंस को देखते हुए निवेशकों को लग सकता है कि कहीं इन दोनों कंपनियों के बायबैक ऑफर में पार्टिसिपेट करने पर एडिशनल रिटर्न पाने से रह न जाएं.