क्या 2024 में फिर साथ आएंगे अखिलेश यादव और मायावती?

703
mayawati
mayawati

यूपी में बीजेपी के खिलाफ विपक्ष लामबंद होते हुए नजर आ रहा है खास तौर पर देखा जाए तो उपचुनाव के रिजल्ट के बाद से बीजेपी के खिलाफ समाजवादी पार्टी प्रमुख अखिलेश यादव और बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने जोरदार हमला बोला है जिसके बाद दोनों 2024 लोकसभा चुनाव में फिर एक साथ आने को लेकर चर्चा होने लगी है।

बीएसपी और सपा दोनों एक ही राह पर बीजेपी के खिलाफ

दरअसल इस चर्चा की शुरुआत उपचुनाव के नतीजों के बाद हुई बीएसपी और सपा दोनों एक ही राह पर बीजेपी के खिलाफ नजर आ रहे हैं अब नजर उपचुनाव के दौरान दोनों ही पार्टियों के बयानों पर डालते हैं तब दोनों ने बीजेपी पर मुस्लिम दलित पिछड़ा और अकलियत समाज के लोगों की सुरक्षा पर गिरा बात यहीं खत्म नहीं हुई इन दोनों ने बीजेपी को राज्य की कानून व्यवस्था के मुद्दे पर भी निशाने पर लिया इसके बाद जब उपचुनाव के रिजल्ट आए और रामपुर में बीजेपी की जीत हुई तो दोनों ही पार्टियों ने बीजेपी पर एक साथ निशाना साधा दोनों ने मुस्लिम समाज को चिंतन करने और सरकार पर पुलिस प्रशासन का दुरुपयोग करने का आरोप लगाया।

हाईकोर्ट का यूपी नगर निकाय चुनाव को लेकर फैसला आया

फिलहाल इलाहाबाद हाईकोर्ट का यूपी नगर निकाय चुनाव को लेकर फैसला आया है जिसके बाद दोनों ही पार्टियां और लगभग एक साथ लग रहा है एक और मायावती ने कोर्ट के फैसले को बीजेपी सरकार की ओबीसी आरक्षण विरोधी सोच और मानसिकता बताया है कि दूसरी और अखिलेश यादव का आरोप है कि बीजेपी आ रही है और दलितों का आरक्षण भी छीन लेगी इन बयानों के बाद राज्यों में दोनों की पार्टियों ने बीजेपी के खिलाफ लामबंद होने के संकेत दे दिए हैं।