कोरोना के कारण पहली बार वर्चुअल होगा राष्ट्रीय अवॉर्ड समारोह, राष्ट्रपति भवन से साई सेंटर में दिए जाएंगे पुरस्कार

341

कोरोना के चलते इस बार राष्ट्रीय पुरस्कार खेल समारोह वर्चुअल तरीके से अनोखे अंदाज में आयोजित किया जाएगा। अवॉर्डियों को ट्रॉफी और ड्रेस समेत उनके पास के साई सेंटर में बुलाया जाएगा। उसके बाद राष्ट्रपति भवन से राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद उन्हें प्रमाण पत्र सौंपेंगे। समारोह राष्ट्रीय खेल दिवस (द्ददा ध्यानचंद के जन्मदिन) पर 29 अगस्त को ही होगा, जिसका सीधा प्रसारण दूरदर्शन पर होगा।

सूत्रों के मुताबिक समारोह के किस तरह आयोजित किया जाएगा इसके लिए खेल मंत्रालय और दूरदर्शन के उच्चाधिकारियों के बीच बृहस्पतिवार को बैठक हुई। नामित किए गए सभी 62 खिलाड़ियों के नामों की मंजूरी खेल मंत्री किरेन रिजिजू की ओर से शुक्रवार तक मिलने की उम्मीद है। खिलाड़ियों से उनकी ड्रेस की नाप पूछकर इन्हें सिलवाने के ऑर्डर भी दे दिए गए हैं।

खिलाड़ियों को बुलाने के लिए अब तक 16 साई सेंटरों का चयन किया जा चुका है। इन्हीं सेंटरों में खिलाड़ियों को दी जाने वाली ट्रॉफी और पदक पहुंचाए जाएंगे। ड्रेस घर पहुंचाई जा सकती है। यहीं पूरे प्रोटोकॉल में खिलाड़ी राष्ट्रपति से ऑनलाइन पुरस्कार ग्रहण करेंगे। समारोह ठीक उसी तरह होगा जिस तरह से अब तक होता आया है, लेकिन लोग नहीं होंगे। मंत्रालय और साई के अधिकारी दिल्ली के एक अन्य हॉल में बैठे होंगे। सभी जगह दूरदर्शन के कैमरे लगें होंगे। राष्ट्रपति के पास खिलाड़ियों को दिया जाना वाला प्रमाण पत्र होगा।

क्रिकेटर रोहित शर्मा और इशांत शर्मा को राजीव गांधी खेल रत्न और अर्जुन अवॉर्ड किस तरह दिया जाए। इस पर अभी माथापच्ची चल रही है। समारोह वाले दिन दोनों क्रिकेटर आईपीएल की तैयारियों के लिए यूएई में होंगे। ऐसे में दोनों साई सेंटर नहीं पहुंच सकते हैं। अब यही चर्चा की जा रही है कि इन दोनों को कैसे जोड़ा जाए।