वियतनाम के राष्ट्रपति गुयेन जुआन फुक ने घोटालों के आरोपों से परेशान होकर दिया इस्तीफा..

164
bhn
bhn

भ्रष्टाचार के आरोपों से घिरे वियतनाम के राष्ट्रपति गुयेन जुआन फुक ने मंगलवार को इस्तीफा दे दिया है हाई प्रोफाइल घोटाले की एक श्रंखला के बाद उन्हें पद छोड़ने पर मजबूर होना पड़ा है इस तरह भ्रष्टाचार के आरोप में इस्तीफा देने वालों में वह सरकार के सबसे वरिष्ठ सदस्य बन गए हैं.

पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया

दरअसल 2016 से 2021 के बीच हुए भ्रष्टाचार के लिए उन्हें जिम्मेदार ठहराया गया था उनके इस्तीफे की भाषा से जाहिर होता है कि उनको पद छोड़ने के लिए मजबूर किया गया है सरकार ने मंगलवार को कहा कि सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी ने उन पर प्रधानमंत्री रहते हुए उनके अधीन कार्यरत अधिकारियों द्वारा नियमों का उल्लंघन और गलत काम करने का आरोप लगाया है सरकारी मीडिया में प्रकाशित एक अधिकारी ने बयान में कहा गया है कि उन्होंने दो डिप्टी पीएम सहित अपने अधीनस्थों से जुड़े गंभीर घोटालों के लिए देश के शीर्ष कार्यकारी के रूप में राजनीति की जिम्मेदारी निभाई हैं.

फ़िलहाल फुक 2016 से 2021 तक देश के प्रधानमंत्री थे 68 वर्षीय फुक ने 2 साल से भी कम समय तक राष्ट्रपति की जिम्मेदारी संभाली उनके इस्तीफे के बाद अभी तक यह साफ नहीं हो सका कि उनकी जगह कौन लेगा।