यूपी पंचायत चुनाव: 20 जिलों में तीसरे चरण का मतदान जारी, 3.52 लाख से अधिक उम्मीदवार मैदान में, लोगों में दिखा उत्साह

    253

    पंचायत चुनाव के तीसरे चरण के लिए 20 जिलों में आज वोट डाले जाएंगे। इस चरण में लगभग साढ़े तीन लाख उम्मीदवारों की किस्मत बैलेट बाक्स में बंद हो जाएगी। इस दौरान 3,05,71,613 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इस चरण के लिए राज्य निर्वाचन आयोग और पुलिस महकमे ने पूरी तैयारी कर ली है। तीसरे चरण के चुनाव के लिए रविवार देर रात तक पोलिंग पार्टियां मतदान केंद्रों के लिए रवाना होती रहीं। 

    राज्य निर्वाचन आयोग से मिली जानकारी के अनुसार इस चरण में जिला पंचायत सदस्य की 746 सीटों के लिए 10,627 उम्मीदवार, क्षेत्र पंचायत सदस्य की 18,530 सीटों के लिए 89,188 उम्मीदवार, ग्राम प्रधान की 14,379 सीटों के लिए 1,17,789 उम्मीदवार तथा ग्राम पंचायत वार्ड की 1,80,473 सीटों के लिए 1,34,510 उम्मीदवार चुनाव मैदान में हैं। तीसरे चरण का मतदान में 20 जिलों की करीब 2.14 लाख सीटों पर 3.52 लाख से अधिक उम्मीदवारों की तकदीर का फैसला होगा। इस चरण में मतदान के लिए 49,789 मतदान स्थल बनाए गए हैं।

     
    इन जिलों में डाले जाएंगे वोट 
    अमेठी, उन्नाव, औरैया, कानपुर देहात, कासगंज, चंदौली, जालौन, देवरिया, पीलीभीत, फतेहपुर, फिरोजाबाद, बलरामपुर, बलिया, बाराबंकी, मेरठ, मुरादाबाद, मिर्जापुर, शामली, सिद्धार्थनगर और हमीरपुर।

    सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम
    तीसरे चरण के लिए पुलिस ने अपनी कमर कस ली है। इस चरण के लिए सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किए गए हैं। तीसरे चरण में 20 जिलों में 20727 मतदान केंद्राें पर वोट डाले जाएंगे। इसके लिए 55 कंपनी पीएसी और 10 कंपनी अर्ध सैनिक बल की तैनाती की गई है। एडीजी कानून व्यवस्था प्रशांत कुमार ने बताया कि इस चरण में चुनाव के लिए पीएसी और अर्ध सैनिक बलों के अलावा 509 निरीक्षक, 7600 उप निरीक्षक, 15736 मुख्य आरक्षी और 56251 सिपाहियों की ड्यूटी लगाई गई है। इसके अतिरिक्त 66444 होमगार्ड, 2473 पीआरडी जवान, 6282 रिक्रूट आरक्षियों की भी ड्यूटी शांति पूर्ण चुनाव संपन्न कराने के लिए लगाई गई है। 

    अधिकतम पांच लोगों को ही घर-घर जाकर प्रचार करने की मिली थी अनुमति
    कोरोना महामारी के मद्देनजर राज्य निर्वाचन आयोग ने मार्च में निर्देश दिए थे कि पंचायत चुनाव के दौरान अधिकतम पांच लोग ही घर-घर जाकर प्रचार कर सकते हैं। राज्य के उप निर्वाचन आयुक्त वेद प्रकाश वर्मा ने बताया अपर जिला अधिकारियों की अगुवाई में तीन सदस्य समितियां गठित की गई हैं जो आयोग द्वारा जारी दिशा निर्देशों का अनुपालन सुनिश्चित कराएंगी। मतदान के दौरान भी कोविड-19 संबंधी प्रोटोकॉल का सख्ती से पालन कराया जाएगा। मतदान केंद्रों के बाहर मतदाताओं के खड़े होने के लिए छह-छह फुट की दूरी पर घेरे बनाए गए हैं।