उत्तर प्रदेश के मिर्ज़ापुर में अमित शाह बोले – मिर्जापुर-चंदौली और सोनभद्र नक्सलवाद से हो चुके मुक्त, माफियाओं का भी हुआ सफाया

255

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह (Amit Shah) ने उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर (Mirzapur) में मां विंध्यवासिनी कॉरिडोर परियोजना (Maa Vindhyavasini Corridor) का शिलान्यास और रोप-वे (Ropeway) का लोकार्पण किया. इस दौरान मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ भी उनके साथ मौजूद रहे. शाह ने कहा, ‘यही वह उत्तर प्रदेश है, जिसको 2014 में पूर्ण बहुमत के साथ बीजेपी की सरकार बनाने और नरेंद्र मोदी जी को देश का प्रधानमंत्री बनाने का श्रेय जाता है’.

शाह ने कहा, ‘आज मां विंध्यवासिनी कॉरिडोर परियोजना का शिलान्यास और रोप-वे का लोकार्पण हुआ है. अब किसी को भी अपने बूढ़े माता-पिता को लाना है तो कांवड़ की जरूरत नहीं होगी. रोप-वे में बैठाकर त्रिकोण परिक्रमा पूरी करवा सकता है. अमित शाह ने कहा, ‘2014 और 2019 में जो पूर्ण बहुमत आपने दिया, उसी का परिणाम है कि 500 वर्षों से लंबित अयोध्या में भगवान श्रीराम के भव्य मंदिर का निर्माण हो रहा है.’

‘कोरोना की दोनों लहरों में यूपी ने किया बेहतर प्रदर्शन’

यूपी में कोरोना प्रबंधन को लेकर शाह ने कहा, ‘कोरोना की दोनों लहरों में उत्तर प्रदेश सरकार ने बेहतर प्रदर्शन किया है. योगी जी ने परिश्रम, मेहनत, सूझबूझ और अपनी प्रशासनिक क्षमता से जो कार्य किए, उससे उत्तर प्रदेश कोरोना फ्री हो रहा है. इतना ही नहीं, सबसे ज्यादा वैक्सीनेशन, टेस्टिंग, बेड की व्यवस्था भी यहीं हुई’.

‘मेक इन इंडिया के तहत निवेश के लिए पहली पसंद यूपी’

केंद्रीय गृह मंत्री ने कहा, ‘आज उत्तर प्रदेश मेक इन इंडिया के तहत निवेश की पहली पसंद बनता जा रहा है. करीब 3.5 लाख करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश उत्तर प्रदेश की जमीन पर लाने का काम योगी जी ने किया है. पहले उत्तर प्रदेश में खुलेआम माफिया घूमते थे. लेकिन आज कोई माफिया दिखाई नहीं पड़ता. उत्तर प्रदेश को दंगा मुक्त, माफिया मुक्त, भू-माफियाओं से मुक्ति का काम और उत्तर प्रदेश की माताओं-बहनों को सुरक्षा देने का काम BJP सरकार ने किया है.’

‘लूट, डकैती, हत्या की घटनाओं में आई कमी’

गृह मंत्री ने कहा, ‘मिर्जापुर, चंदौली और सोनभद्र नक्सलवाद के प्रभाव से पूर्ण रूप से मुक्त हो चुके हैं. उत्तर प्रदेश में 1,574 करोड़ रुपये की माफियाओं की संपत्ति जब्त की गई है. लूट, डकैती, हत्या जैसी घटनाओं में 28 से 50 प्रतिशत तक की कमी दर्ज की गई है.