उत्तर प्रदेश में Covid-19 वैक्सीन रखने के लिए 35 हजार केंद्र स्थापित किए जाएंगे, CM योगी ने दिए निर्देश

396

उत्तर प्रदेश में कोविड-19 के टीकों को सुरक्षित रखने के लिए 35,000 केंद्र स्थापित किए जाएंगे. योजना के तहत टीकाकरण करने वाली एक टीम रोजाना 100 लोगों का टीकाकरण करेगी. प्रत्येक टीकाकरण टीम के साथ एक पुलिस कांस्टेबल तथा एक होमगार्ड जवान की ड्यूटी लगाई जाएगी. वहीं, जिस व्यक्ति को टीका लगाया जाएगा उसको फोन पर टीका लगाने का समय, स्थान व दिनांक की जानकारी पहले दे दी जाएगी और टीकाकरण के पश्चात सम्बन्धित व्यक्ति को टीकाकरण केंद्र पर 30 मिनट तक रुकना होगा.

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कोविड-19 टीके को सुरक्षित रखने के लिए गोदाम और शीतगृह श्रृंखला की पुख्ता व्यवस्था करने के निर्देश दिए है. उन्होंने कहा है कि कोविड-19 टीके के भंडारण केंद्र में सभी आवश्यक प्रबन्ध सुनिश्चित किए जाएं. उन्होंने कोरोना टीकाकरण कार्य को ध्यान में रखते हुए बायोमेडिकल कचरे के समुचित निस्तारण की व्यवस्था करने के निर्देश भी दिए हैं.

एक सरकारी बयान के मुताबिक, मुख्यमंत्री ने शनिवार को यहां लोक भवन में आयोजित एक उच्चस्तरीय बैठक में कोविड-19 टीकाकरण के सम्बन्ध में की जा रही व्यवस्थाओं की समीक्षा की. बयान के मुताबिक उन्होंने निर्देश दिए कि कोविड-19 टीकाकरण केंद्र में टीका लगने के बाद सम्बन्धित व्यक्ति के लिए कुछ समय रुकने की भी व्यवस्था की जाए. उन्होंने टीकाकरण केंद्र पर सुरक्षा के व्यापक इन्तजाम सुनिश्चित करने के निर्देश भी दिए.

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश में कोविड-19 का टीकाकरण कार्य निर्धारित समय सारणी के अनुसार सम्पन्न किया जा सके, इसके लिए आवश्यक है कि पर्याप्त संख्या में टीका लगाने वाले उपलब्धत रहे. उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारम्भ हो गये हैं. उन्होंने टीकाकरण के लिए इन्हें लगाने वालों को तैयार करने का कार्य पूरी तेजी से संचालित करने के निर्देश दिए हैं. बयान के मुताबिक, कोविड-19 टीका मानकों के अनुरूप भंडाकण के लिए आईसलैण्ड रेफ्रिजरेटर तथा डीपफ्रीजर भारत सरकार द्वारा उपलब्ध कराए जा रहे हैं. बयान में कहा गया कि प्रदेश में 2.5 लाख लीटर टीका भण्डारण की क्षमता सृजित हो गई है, टीकाकरण के लिए छह करोड़ सिरिंज की आवश्यकता होगी, अब तक 4.5 करोड़ सिरिंज का आवंटन कर दिया गया है.