UNESCO ने बंगाल के मशहूर दुर्गा पूजा पंडाल और उत्सव को ‘सांस्कृतिक विरासत’ का दर्जा दिया

196
UNESCO durga pooja world heritage tag
UNESCO durga pooja world heritage tag

UNESCO यानी संयुक्त राष्ट्र शैक्षिक, वैज्ञानिक एवं सांस्कृतिक संगठन ने पश्चिम बंगाल के दुर्गा पूजा उत्सव को विरासत का दर्जा दिया है. दुर्गा पूजा  को इस सूची में शामिल किये जाने पर पीएम मोदी ने खुशी जताई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने इस फैसले की सराहना करते हुए इसे गर्व एवं खुशी का पल करार दिया है. वहीं, इसे लेकर पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी ने इसे गर्व का पल बताया है.

यूनेस्को ने ट्विटर पर देवी दुर्गा की मूर्ति वाली एक तस्वीर के साथ ट्वीट किया, ‘कोलकाता में दुर्गा पूजा को अभी-अभी अमूर्त विरासत सूची में शामिल किया गया है. भारत को शुभकामनाएं.’ राज्य विरासत आयोग के अध्यक्ष सुवप्रसन्ना ने कहा कि दुर्गा पूजा पंडालों के निर्माण के शिल्प कौशल को प्रदर्शित करने वाले ‘रेड रोड कार्निवल’ ने दुनिया भर में लोगों को इसकी भव्यता को लेकर जागरूक किया है जोकि त्योहार का पर्याय है.

इस बीच, कोलकाता के दुर्गा पूजा उत्सव को विरासत का दर्जा मिलने पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने यूनेस्को के इस फैसले की सराहना की और इसे प्रत्येक भारतीय के लिए गर्व और उल्लास का विषय करार दिया. मोदी ने ट्वीट कर कहा, ‘प्रत्येक भारतीय के लिए गर्व और उल्लास का पल. दुर्गा पूजा हमारी सर्वोत्तम परंपराओं और लोकाचार को पेश करती है और कोलकाता की दुर्गा पूजा का अनुभव हर किसी के पास होना चाहिए.’

सीएम ममता बनर्जी ने कहा कि ये हमारे लिए गर्व का पल है. दुर्गा पूजा उत्सव हमारे लिए एक इमोशन है. बंगाल को ये उत्सव एकजुट करता है.