सऊदी अरब: तबलीगी जमात पर लगाया प्रतिबन्ध,संगठन को बताया ‘आतंकवाद का दरवाजा’

356

सऊदी अरब ने तब्लीगी जमात को आतंकवाद के द्वारों में से एक बताते हुए उस पर प्रतिबंध लगा दिया है. सऊदी इस्लामी मामलों के मंत्रालय ने मस्जिदों को शुक्रवार के धर्मोपदेश के दौरान लोगों को तब्लीगी जमात साथ जुड़ने के खिलाफ चेतावनी देने का निर्देश दिया. देश के इस्लामी मामलों के मंत्री ने सोशल मीडिया पर सुन्नी इस्लामी संगठन को आतंकवाद के द्वारों में से एक बताते हुए इस पर बैन का ऐलान किया और कहा कि तब्लीगी जमात समाज के लिए खतरा है.

तब्लीगी जमात का मतलब ‘विश्वास फैलाने के लिए समाज’ है. इसकी स्थापना 1926 में भारत में की गई थी. ये मुसलमानों को धार्मिक रूप से रहने के तरीके को बताता है. खासतौर पर ड्रेसिंग, व्यक्तिगत व्यवहार और अनुष्ठानों के संबंध में. तब्लीगी जमात के दुनियाभर में 40 करोड़ सदस्य होने का अनुमान है.

पिछले साल कोरोनावायरस महामारी की शुरुआत होने पर देशभर में इस संगठन की खासा चर्चा हुई थी. इस दौरान जमात पर कथित रूप से कोरोना फैलाने का आरोप लगाया था. इसके अलावा, तब्लीगी जमात पर आरोप लगाया गया था इसने बिना अनुमति के बड़ी संख्या में लोगों को दिल्ली के निजामुद्दीन में स्थित मरकज में इकट्ठा किया. बड़ी संख्या में संगठन के लोग मरकज में इकट्ठा हुआ थे, जिसमें से कई विदेशी भी थे. कोरोना के बीच इस तरह से भीड़ इकट्ठा होने से डर का माहौल पैदा हो गया था.