केंद्र सरकार ने नए साल पर दिया आम आदमी पार्टी को तोहफा..

200
delhi
delhi

केंद्र सरकार ने 8 बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी करके आम आदमी को बड़ी सौगात दी है डाकघर सावधि जमा एनएससी और वरिष्ठ नागरिक बचत योजना समेत लघु बचत जमा योजनाओं पर ब्याज दरों में 1.1% तक बढ़ोतरी कि यह बढ़ोतरी 1 जनवरी से लागू होगी सरकार की यह वृद्धि हाल में ब्याज दरों में हुई बढ़ोतरी के अनुरूप है हालांकि सार्वजनिक भविष्य निधि और बालिका बचत योजना सुकन्या समृद्धि की ब्याज दरों में बदलाव नहीं किया गया है

इसी तरह वरिष्ठ नागरिक बचत योजनाओं में मौजूद

दरअसल राष्ट्रीय बचत प्रमाण पत्र पर 1 जनवरी से 7 फ़ीसदी की दर से ब्याज मिलेगा अभी यहीं 6.8 फ़ीसदी है इसी तरह वरिष्ठ नागरिक बचत योजनाओं में मौजूद 7.6 प्रतिशत के मुकाबले 8% ब्याज मिलेगा 1 से 5 साल की अवधि की डाकघर सावधि जमा योजना पर ब्याज दरें 1.1% तक बढ़ जाएगी मासिक आय योजना में भी 6.7% की जगह अब 7.1 प्रतिशत ब्याज मिलेगा पोस्ट ऑफिस बचत खातों पर मिलने वाली ब्याज दर में कोई बदलाव नहीं हुआ है इसलिए खाताधारकों को 4% की सालाना दर से ही ब्याज मिलेगा 1 साल से लेकर 3 साल तक की टाइम डिपॉजिट वाली स्कीम्स के ब्याज दरों में 1.2 10% बढ़ोतरी हुई है भारतीय रिजर्व बैंक द्वारा रेपो रेट में बढ़ोतरी के बाद से सरकार समर्थित सभी बचत योजनाओं पर ब्याज दरों में बढ़ोतरी की उम्मीद की जा रही थी हालांकि पीपीएफ और सुकन्या समृद्धि योजनाओ के खाता धारक को निराशा हाथ लगी है

फिलहाल पीएफ पर ब्याज की मौजूदा दर 7.1 फ़ीसदी है आप कई बैंक भी पीपीएफ की तुलना में समृद्धि जमा योजनाओं पर ज्यादा इंटरेस्ट ऑफर कर रहे हैं सितंबर 2018 में पीपीएफ पर ब्याज दर 7.4% थी जून 2019 में बढ़कर 8% हो गई लेकिन तब से गिरने शुरू हो गई और अब ब्याज दर 7.1% है बता देगी के सरकार तिमाही आधार पर सार्वजनिक भविष्य निधि की ब्याज दर में संशोधन करती है और 8 छोटी बचत योजनाओं की ब्याज दरों में बदलाव इसी के तहत किया गया है