सुसाइड नहीं हत्या थी सुशांत सिंह राजपूत की मौत? पोस्टमॉर्टम रूम में मौजूद शख्स का बड़ा दावा

198
Sushant Singh Rajput

मुंबई के कूपर अस्पताल के मॉर्चरी सर्वेंट रुपकुमार शाह का कहना है, ‘जब मैंने सुशांत सिंह राजपूत का शव देखा तो यह आत्महत्या का मामला नहीं लगा। उनके शरीर पर चोट के निशान थे। मैं अपने सीनियर के पास गया, लेकिन उन्होंने कहा कि हम बाद में इस पर चर्चा करेंगे।’

रूप कुमार शाह ने अपने बयान में कहा, “पोस्टमॉर्टम के लिए कूपर अस्पताल में पांच शव में एक VIP बॉडी आई थी, कपड़ा खोलने के बाद हमने देखा कि वो एक्टर सुशांत सिंह की बॉडी थी। बॉडी देखने के बाद लगा कि सुशांत सिंह का केस सुसाइड का नहीं है। गला देखने के बाद मुझे लगा की घटना आत्महत्या की नहीं है। पैर और हाथ पर मारने के निशान थे, बॉडी की फोटोग्राफी हुई थी। साहेब को हमने बोला कि सर, वीडियाग्राफी कीजिए तो साहेब ने बोला तुम्हें जो काम मिला है वो काम करो। सुशांत को न्याय मिलना चाहिए…सुशांत का फोटो देखने के बाद लगता है कि यह मर्डर है।”

एक्टर की मौत के करीब ढाई साल बाद रूपकुमार शाह नाम के शख्स की टिप्पणी ने सबको हैरान कर दिया है। रूपकुमार शाह का दावा है कि जब सुशांत का पोस्टमार्टम हुआ तो वह वहीं मौजूद थे। उन्होंने आगे कहा कि, ‘मैं इसलिए यह बोल रहा हूं क्योंकि मैं 14 और 15 जून को ड्यूटी पर था। काम कर रहा था रात को करीब 11-12 बजे के आसपास सुशांत की बॉडी के पोस्टमार्टम का नंबर आया।’

शाह ने आगे कहा कि ‘मैंने देखा कि सुसाइड के शव में फांसी के बाद जो गले पर निशान होता है, जिसे हैंगिंग मार्क बोलते हैं वह सुसाइड जैसा नहीं था। वह कुछ अलग-सा था। इसके अलावा पैर और हाथ पर भी अलग-अलग तरह के निशान थे। वह बिल्कुल अलग थे। मैं अभी बता नहीं सकता।’ बता दें कि एक्टर सुशांत सिंह राजपूत 14 जून 2020 को मुंबई स्थित अपने अपार्टमेंट में मृत पाए गए थे। उनकी मौत को आत्महत्या करार दिया गया था। इस मामले में अब तक जांच जारी है।