किसान के बेटे ने इलाज के लिए सोनू सूद से मांगी मदद , एक्टर ने दिया यह जवाब

606
SONU SOOD WILL HOST ROADIES

बॉलीवुड एक्टर सोनू सूद कोरोना काल में जरूररतमंदों की लगातार मदद कर रहे हैं। मदद की गुहार लगाने वालों की सोनू हर संभव सहायता करते हैं। अब एक शख्स ने ट्वीट कर सोनू सूद से अपने इलाज के लिए सहायता मांगी है। ऐसे में एक्टर ने तुरंत डॉक्टर से बातकर शख्स के पास दवाइंया भेजने की व्यवस्था कर दी।

शख्स ने सोनू को टैग करते हुए ट्वीट किया, ”सर मेरा नाम विशाल है। मुझे ब्रेन ट्यूबरक्यूलोमा (टीबी) हो गया है। पापा किसान है और इतने पैसे नहीं है कि मैं अपना इलाज करा सकूं। प्लीज सर हेल्प कर दीजिए मेरे पास इलाज के लिए पैसे नहीं है प्लीज हेल्प कर दीजिए।” इस ट्वीट पर रिप्लाई करते हुए सोनू सूद ने लिखा, ”डॉक्टर के अनुसार सर्जरी की जरूरत नहीं है, इसलिए आपको दवाइंया भेजी जा रही हैं जो आपको जल्दी स्वस्थ में मदद करेंगी।”

सोनू सूद ने ट्रोलर्स को दिया था करारा जवाब
कुछ समय पहले सोनू सूद ने अपनी पुस्तक ‘आई एम नो मसीहा’ के टाइटल को लेकर ट्रोल किए जाने पर अपनी प्रतिक्रिया दी थी। सोनू सूद ने कहा कि उन्होंने कभी सपने में भी खुद को मसीहा मानने की बात नहीं सोची थी। दरअसल अपनी पुस्तक में मसीहा शब्द का इस्तेमाल किए जाने को लेकर सोशल मीडिया पर एक वर्ग उन्हें ट्रोल कर रहा था। कोरोना काल में मजदूरों की मदद करने वाले सोनू सूद अब ऐसे लोगों की मदद में जुटे हैं, जिन्हें सर्जरी की जरूरत है या फिर जिन लोगों की कोरोना काल में नौकरी गई है।

किताब को लेकर ट्रोल करने वाले लोगों को जवाब देते हुए सोनू सूद ने कहा, ‘ये लोग पेड ट्रोल हैं। किताब को लोग काफी पसंद कर रहे हैं। जहां तक मेरी ओर से खुद को मसीहा कहे जाने पर निंदा की बात है तो मैंने कभी सपने में भी खुद को मसीहा मानने की बात नहीं सोची थी। यहां तक कि मैं अपने फैन्स को भी मना करता हूं कि वे मेरे लिए इस तरह के शब्दों का इस्तेमाल न करें।’