सोलर एनर्जी के पीवी मॉड्यूल्स विनिर्माण के लिये 4,500 करोड़ रुपये की पीएलआई योजना को मंजूरी, मिलेगा 1.5 लाख लोगों को रोजगार

158
Piyush-Goyal
Piyush-Goyal

केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने बुधवार को एकीकृत सौर पीवी मॉड्यूल्स विनिर्माण संयंत्र की दस हजार मेगावाट की नई क्षमता जोड़ने के वास्ते 4,500 करोड़ रुपये की उत्पादन से जुड़ी प्रोत्साहन योजना (पीएलआई) को मंजूरी दे दी. केन्द्रीय वाणिज्य एवं उद्योग मंत्री पीयूष गोयल ने मंत्रिमंडल की बैठक में लिये गये इस निर्णय के बारे में जानकारी दी. उन्होंने ‘नेशनल प्रोग्राम आन हाई इफीशियेंसी सोलर पीवी मॉड्यूल्स’ के लिये 4,500 करोड़ रुपये की पीएलआई योजना के बारे में ब्यौरा दिया.

उन्होंने कहा कि मंत्रिमंडल के इस फैसले से एकीकृत सौर पीवी विनिर्माण संयंत्रों में दस हजार मेगावाट क्षमता को जोड़ा जा सकेगा. इसके तहत सौर पीवी विनिर्माण के क्षेत्र में करीब 17,200 करोड़ रुपये का प्रत्यक्ष निवेश होगा.

सरकार का कहना है कि पीएलआई योजना से करीब 30 हजार लोगों को प्रत्यक्ष और 1.2 लाख लोगों को अप्रत्यक्ष रोजगार प्रापत होगा.
वहीं, टाटा पाॅवर गुजरात ऊर्जा विकास निगम (जीयूवीएनएल) के लिए वहां 60 मेगीावाट का सौर ऊर्जा प्लांट लगाएगा. इसके लिए जीयूवीएनएल से कंपनी काे वर्क ऑर्डर मिला है. यह समझाैता 25 वर्ष के लिए हुआ है. जनवरी 2021 में हुए टेंडर में कंपनी ने सबसे ऊंची बाेली लगाकर यह वर्क ऑर्डर हासिल किया है. पाॅवर पर्चेज एग्रीमेंट की तारीख से 18 महीने के भीतर प्लांट का निर्माण पूरा करना है. यह जानकारी टाटा पाॅवर के सीईओ सह एमडी डॉ. प्रवीर सिन्हा ने दी है. उनके मुताबिक इस प्लांट से प्रति वर्ष लगभग 156 मेगा यूनिट ऊर्जा उत्पन्न होने की उम्मीद है. इससे 156 मिलियन किलोग्राम कार्बन डाई-ऑक्साइड की मात्रा कम हाेगी. इस प्रोजेक्ट के साथ ही टाटा पाॅवर की नवीकरणीय क्षमता बढ़कर 4007 मेगावाट हो जाएगी.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here