सेवा क्षेत्र की गतिविधियों पर कोरोना संक्रमण का साया, सेवा पीएमआई मार्च में घटकर 54.6 रहा, जो फरवरी में 55.3 था

205

कोरोना संक्रमण के मामलों में तेजी और लागत बढ़ने से देश के सेवा क्षेत्र की गतिविधियां मार्च में सुस्त हो गईं। एक सर्वे के मुताबिक, सेवा पीएमआई (परचेजिंग मैनेजर्स इंडेक्स) सूचकांक मार्च में घटकर 54.6 पर आ गया, जो फरवरी में 55.3 था। पीएमआई का 50 से अधिक रहना वृद्धि और इससे नीचे का आंकड़ा संकुचन दिखाता है।

सर्वे में कहा गया है कि फरवरी के मुकाबले पिछले महीने गतिविधियों में कुछ सुस्ती आई है, लेकिन इसमें पिछले छह महीने से लगातार वृद्धि देखी जा रही है।

आईएचएस मार्किट की एसोसिएट निदेशक (अर्थशास्त्र) पॉलियाना डि लीमा ने कहा, चुनावों के कारण मांग में वृद्धि और महामारी की रोकथाम के लिए टीकाकरण अभियान शुरू होने से कारोबारियों का भरोसा बढ़ा है। इससे सूचकांक लगातार छठे महीने 50 से ऊपर रहा। हालांकि, महामारी और आवाजाही पर रोकथाम से चुनौतियां बढ़ी हैं।

उन्होंने कहा, संक्रमण का प्रकोप बढ़ने और लॉकडाउन जैसी पाबंदियों से अप्रैल में और गिरावट आ सकती है। हालांकि, सर्वे में शामिल कंपनियों के उम्मीद है कि आने वाले 12 महीनों के दौरान व्यावसायिक गतिविधि बढ़ेंगी।