RSS चीफ मोहन भागवत से मिले मुस्लिम समुदाय के बुद्धिजीवी, धार्मिक सौहार्द बनाए रखने की हुई चर्चा

235
Mohan-Bhagwat

पूर्व चुनाव आयोग आयुक्त एस. वाई. कुरैशी और दिल्ली के पूर्व गवर्नर नजीब जंग समेत मुस्लिम समुदाय के बुद्धिजीवी ने हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक मोहन भागवत से मुलाकात की. इन्होंने भारत में सांप्रदायिक सौहार्द को मजबूत करने की योजना तैयार की. मीडिया रिपोर्ट में मंगलवार को यह सूचना दी गयी. यह बैठक ऐसे समय में हुई है जब ज्ञानवापी मस्जिद के मुद्दे पर कोर्ट में सुनवाई हो रही है. बैठक में देश में सांप्रदायिक सद्भाव को मजबूत करने के लिए एक मंच बनाने का निर्णय लिया गया है.

मीडिया रिपोर्ट्स में यह बताया गया कि अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी के पूर्व कुलपति लेफ्टिनेंट जनरल (सेवानिवृत्त) जमीरुद्दीन शाह, पूर्व सांसद शाहिद सिद्दीकी, और परोपकारी सईद शेरवानी भी हाल ही में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के अस्थायी कार्यालय उदासीन आश्रम में बंद कमरे में हुई बैठक में मौजूद थे. सूत्रों ने कहा कि दो घंटे तक चली बैठक के दौरान सांप्रदायिक सौहार्द को मजबूत बनाने और अंतर-सामुदायिक संबंधों में सुधार पर व्यापक चर्चा हुई. हालांकि, उन्होंने कहा कि बैठक के दौरान ज्ञानवापी मस्जिद और नूपुर शर्मा की हालिया टिप्पणियों से उपजे विवाद जैसे किसी विवादास्पद मुद्दे पर चर्चा नहीं हुई.

बैठक में मौजूद सूत्रों ने बताया कि RSS चीफ और बुद्धिजीवियों के समूह ने सहमति व्यक्त की कि समुदायों के बीच सांप्रदायिक सद्भाव व सुलह को मजबूत किए बिना देश प्रगति नहीं कर सकता. सूत्रों ने कहा, “दोनों पक्षों ने सांप्रदायिक सद्भाव व समुदायों के बीच मतभेदों को दूर करने की आवश्यकता पर जोर दिया. इस पहल को आगे बढ़ाने के लिए एक योजना तैयार की गई.”