कांशीराम को याद कर मायावती बोली- संकल्प पूरा करने के लिए सत्ता जरुरी..

705

बहुजन समाज पार्टी (बसपा) के संस्‍थापक कांशीराम की 89वीं जयंती पर बुधवार को पार्टी ने बड़ा कार्यक्रम आयोजित किया। कांशीराम की जयंती पर हर साल की ही तरह बसपा ने इस साल भी राजधानी के वीआईपी रोड स्थित कांशीराम स्‍मारक स्‍थल पर कार्यक्रम का आयोजन किया।

षडयंत्र का क्रम विरोधियों द्वारा आज भी लगातार जारी

दरअसल कार्यक्रम में कांशीराम की मूर्ति पर माल्‍यार्पण कर उन्हें श्रद्धांजलि दी और धूमधाम से कांशीराम की जयंती मनाई। इसके साथ सभी ने कांशीराम के बताए मार्ग पर चलने और मायावती को फिर से प्रदेश का सीएम बनाने की प्रतिज्ञा ली। इसके पहले मायावती ने प्रदेश कार्यालय में बनी कांशीराम की प्रतिमा पर उनकी 89 जयंती के अवसर पर पुष्पांजलि अर्पित की। इस दौरान मायावती ने पार्टी कार्यकर्ताओं का आह्वान करते हुए कहा की, कांशीराम ने वंचित शोषित और बहुजन समाज को राजनीतिक शक्ति के रूप में खड़ा किया है। लेकिन डा. भीमराव अम्बेडकर के कारवाँ को आगे बढ़ाने वाले बहुजन नायक कांशीराम व उनके समाज/अनुयाइयों की उपेक्षा, तिरस्कार व षडयंत्र का क्रम विरोधियों द्वारा आज भी लगातार जारी है, जिसका उचित जवाब चुनावी सफलता व सत्ता की मास्टर चाबी प्राप्त करके देते रहना जरूरी है।

फ़िलहाल कांशीराम की 89वीं जयंती के इस ख़ास अवसर पर सदस्य विधान परिषद भीम राव अंबेडकर, विधायक उमाशंकर सिंह, पूर्व एमएलसी नौशाद अली, पूर्व विधायक इर्शाद खान, अखिलेश अंबेडकर, पूर्व एमएलसी दिनेश चन्द्र, राकेशगौतम, नागेश्वर द्विवेदी, शैलेन्द्र गौतम, सुरेश राव, अमरेंद्र भारद्वाज सहित लखनऊ कानपुर मंडल के सभी पदाधिकारी तथा हज़ारों की संख्या में कार्यकर्ता मौजूद रहे।