राहुल गांधी का मोदी सरकार पर वार, बोले- असंगठित अर्थव्यवस्था पर मोदी सरकार के 3 बड़े आक्रमण, ‘नोटबंदी, गलत GST और लॉकडाउन’

371

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी कई मुद्दों को लेकर लगातार मोदी सरकार पर हमलावर हैं. अर्थव्यवस्था को लेकर राहुल ने एक बार फिर केंद्र सरकार पर निशाना साधते हुए एक वीडियो जारी किया है. 3 मिनट 38 सेकेंड के वीडियो को शेयर करते हुए वह लिखते हैं, ‘जो आर्थिक त्रासदी देश झेल रहा है उस दुर्भाग्यपूर्ण सच्चाई की आज पुष्टि हो जाएगी. भारतीय अर्थव्यवस्था 40 वर्षों में पहली बार भारी मंदी में है. असत्याग्रही इसका दोष ईश्वर को दे रहे हैं. सच जानने के लिए मेरा वीडियो देखें.’

वीडियो में राहुल गांधी कह रहे हैं, ‘बीजेपी की सरकार ने असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण किया है और आपको गुलाम बनाने की कोशिश की जा रही है. 2008 में जबरदस्त आर्थिक तूफान आया, पूरी दुनिया में आया. अमेरिका में, जापान में, चाइना में, सब जगह आया. अमेरिका के बैंक गिर गए, कंपनियां बंद हो गईं, एक के बाद एक, कंपनियों की लाइन लग गई बंद होने में, यूरोप के बैंक गिरे मगर हिंदुस्तान को कुछ नहीं हुआ. यूपीए की सरकार थी. मैं थोड़ा हैरान हुआ. प्रधानमंत्री जी के पास गया और मैंने उनसे पूछा, मनमोहन सिंह जी बताइए आप इन बातों को समझते हैं, पूरी दुनिया में आर्थिक नुकसान हुआ है मगर हिंदुस्तान को कोई असर नहीं हुआ, कारण क्या है?’

राहुल ने आगे कहा, ‘मनमोहन सिंह जी ने कहा कि राहुल अगर हिंदुस्तान की अर्थव्यवस्था को समझना चाहते हो तो यह समझना होगा कि हिंदुस्तान में दो अर्थव्यवस्थाएं हैं, पहली असंगठित अर्थव्यवस्था और दूसरी संगठित अर्थव्यवस्था. संगठित में बड़ी कंपनियां नाम आप जानते हो. असंगठित व्यवस्था में किसान, मजदूर, छोटे दुकानदार, मिडिल साइज कंपनीज़. जिस दिन तक हिंदुस्तान का असंगठित सिस्टम मजबूत है, उस दिन तक हिंदुस्तान को कोई भी आर्थिक तूफान छू नहीं सकता. अब आज के दिन आते हैं, पिछले 6 साल से बीजेपी की सरकार ने असंगठित अर्थव्यवस्था पर आक्रमण किया है.’

उन्होंने आगे कहा, ‘तीन बड़े उदाहरण तो मैं आपको अभी दे देता हूं, नोटबंदी, गलत जीएसटी और लॉकडाउन. आप यह मत सोचिए कि लॉकडाउन के पीछे सोच नहीं थी. यह मत सोचिए कि आखिरी मिनट पर लॉकडाउन कर दिया गया. इन तीनों का लक्ष्य हमारी इनफॉरमल सेक्टर को खत्म करने का है. प्रधानमंत्री जी को अगर सरकार चलानी है, मीडिया की जरूरत है, मार्केटिंग की जरूरत है, मीडिया और मार्केटिंग 15-20 लोग करते हैं. इनफॉरमल सेक्टर में पैसा है, लाखों करोड़ों रुपये, जिसको यह लोग छू नहीं सकते. किसानों के घर में मजदूरों के पास छोटे बिजनेज में दुकानदारों के पास लाखों करोड़ों रुपये हैं. इसको यह लोग तोड़ना चाहते हैं, पैसा लेना चाहते हैं.’

राहुल ने आगे कहा, ‘इसका नतीजा आएगा, नतीजा यह होगा कि हिंदुस्तान रोजगार पैदा नहीं कर पाएगा क्यों? क्योंकि इनफॉरमल सेक्टर 90 फीसदी से ज्यादा रोजगार देता है. जिस दिन इनफॉरमल सेक्टर नष्ट हो गया, उस दिन हिंदुस्तान रोजगार नहीं पैदा कर पाएगा. आप ही इस देश को चलाते हो, आप ही इस देश को आगे ले जाते हो और आप ही के खिलाफ साजिश हो रही है. आपको ठगा जा रहा है और आपको गुलाम बनाने की कोशिश की जा रही है. हमें इस आक्रमण को पहचानना पड़ेगा और पूरे देश को मिलकर इसके खिलाफ लड़ना पड़ेगा.’