लखीमपुर खीरी की घटना पर बीएसपी प्रमुख मायावती का वार, कहा- बीजेपी-सपा में फर्क ही क्या रहा

266

बीएसपी प्रमुख मायावती ने लखीमपुर खीरी में एक 13 साल की दलित बच्ची के साथ गैंगरेप और हत्या को लेकर योगी सरकार पर निशाना साधा है. उन्होंने दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की मांग करते हुए कहा कि ऐसी घटनाएं बेहद शर्मनाक हैं. अगर बीजेपी सरकार के दौरान भी बच्चियों के साथ रेप और नृशंस हत्या जैसी शर्मनाक घटनाएं होती रहीं तो फिर उनमें और समाजवादी पार्टी की सरकार में क्या अंतर रह गया. उन्होंने कहा कि प्रदेश में इस तरह की घटना का होना बेहद शर्मनाक है. इसलिए लखीमपुर खीरी के पकरिया गांव में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार मामले में दोषियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाए.

बीजेपी सरकार पर हमला करते हुए मायावती ने अपने ट्विटर अकाउंट पर लिखा, ‘यूपी के लखीमपुर खीरी के पकरिया गांव में दलित नाबालिग के साथ बलात्कार के बाद फिर उसकी नृशंस हत्या अति-दुःखद और शर्मनाक है. ऐसी घटनाओं से समाजवादी पार्टी और वर्तमान बीजेपी सरकार में फिर क्या अन्तर रहा? सरकार आजमगढ़ के साथ खीरी के दोषियों के विरुद्ध भी सख्त कार्रवाई करे.’

दरअसल लखीमपुर खीरी जिले में ईसानगर थाना क्षेत्र के पकरिया गांव की रहने वाली 13 साल की मासूम बच्ची 14 अगस्त को दोपहर करीब एक बजे अपने घर से शौच के लिए खेत गई थी. जहां गांव के ही रहने वाले दो युवकों ने नाबालिग बच्ची के साथ रेप किया और उसकी हत्या कर दी.

मौत से पहले बच्ची को असहनीय पीड़ा दी गई. उसकी आंख फोड़ी गई, उसकी जुबान काट दी गई और उसके गले में फंदा डालकर उसे घसीटा गया. बाद में आरोपी शव को गन्ने में फेंककर घटनास्थल से फरार हो गए. फिलहाल पुलिस ने दोनों आरोपियों के खिलाफ हत्या और गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कर गिरफ्तार कर लिया है, साथ ही NSA के तहत कार्रवाई शुरू कर दी है.

इससे पहले उन्होंने आजमगढ़ के बांसगांव में दलित प्रधान सत्यमेव जयते पप्पू की हत्या को लेकर यूपी सरकार पर निशाना साधा था. उन्होंने इस घटना को लेकर ट्वीट करते हुए लिखा, ”आजमगढ़ के बांसगांव में दलित प्रधान सत्यमेव जयते पप्पू की स्वतंत्रता दिवस की पूर्वसंध्या में नृशंस हत्या व एक अन्य की कुचलकर मौत की खबर अति-दुःखद. यूपी में दलितों पर इस प्रकार की हो रही जुल्म-ज्यादती व हत्या आदि से पूर्व की सपा व बीजेपी की वर्तमान सरकार में फिर क्या अन्तर रह गया है?”

बता दें, शुक्रवार को आजमगढ़ जिले के तरवां थाना क्षेत्र में बासगांव के प्रधान सत्यमेव जयते उर्फ पप्पू राम को घर से बुलाकर गोलियों से भून दिया गया था. हत्या की सूचना मिलते ही पुलिस मौके पर पहुंची, लेकिन इस दौरान गाड़ी से एक बच्चे की कुचल कर मौत हो गई. दोनों घटनाओं को लेकर ग्रामीण भड़क गए और बोंगरिया पुलिस चौकी को आग के हवाले कर दिया. इस दौरान आसपास खड़े वाहनों में भी तोड़फोड़ की गई और पुलिस पर पथराव भी हुआ.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here