मुख्यमंत्री नीतीश कुमार तेजस्वी पर निशाना, कहा- जो जनता के लिए कुछ नहीं करता वो ट्वीट करता है

239

बिहार में शनिवार को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर पटना के गांधी मैदान में मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने ध्वजारोहण किया. जिसके बाद उन्होंने अपने भाषण में बिना नाम लिए आरजेडी नेता तेजस्वी यादव पर हमला बोला. तेजस्वी पर हमला करने से यह बात स्पष्ट हो गई कि इन दिनों नीतीश तेजस्वी के ट्वीट से कितने बौखलाए हुए हैं.

अपनी सरकार के काम की उपलब्धियां गिनाने के दौरान नीतीश कुमार ने कहा, ‘हम तो काम करते रहते हैं, लेकिन आजकल ट्वीट चल गया है. कौन-कौन क्या-क्या करता है. जो कुछ नहीं जानता है वह सब ट्वीट करता है. कितना काम हो रहा है बिहार में, हम तो हाथ जोड़कर कहेंगे कि आप लोग देखिए, पहले क्या था और अब क्या है.’

दिलचस्प बात यह है कि जब नीतीश कुमार अपना यह भाषण दे रहे थे तो उसी वक्त तेजस्वी यादव भी कार्यक्रम में शामिल थे और वीवीआईपी गेस्ट की सीट पर बैठे मन ही मन मुस्कुरा रहे थे. इस दौरान सीएम नीतीश ने कहा, ‘सोशल मीडिया के दो रूप हैं. एक पक्ष बहुत पॉजिटिव है, उससे लोगों को जानकारी मिलती है और एक पक्ष है जो उसका दुरुपयोग करेगा, कोई काम नहीं करेगा, घर में बैठा रहेगा, सोया रहेगा और कुछ का कुछ लिख देगा.

नियोजित शिक्षकों के लिए घोषणा

स्वतंत्रता दिवस भाषण के दौरान नीतीश कुमार ने बिहार के चार लाख नियोजित शिक्षकों के लिए भी घोषणा की और बताया कि राज्य सरकार बहुत जल्द उनके लिए नई सेवा शर्त नियमावली लागू करने जा रही है. नीतीश कुमार ने कहा कि नियोजित शिक्षकों को नई नियमावली के तहत ईपीएफ का लाभ भी दिया जाएगा.

माना जा रहा है कि 5 सितंबर को शिक्षक दिवस के मौके पर बिहार सरकार नियोजित शिक्षकों के लिए नई सेवा शर्तों की नियमावली को लागू करने की अधिसूचना जारी कर सकती है. जानकारी के मुताबिक नई सेवा शर्त नियमावली के तहत नियोजित शिक्षकों को अपनी इच्छा से स्थानांतरण, वेतन विधि और प्रोन्नति का फायदा मिलेगा.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here