प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से राहुल गांधी का एक बार फिर सवाल – चीनी घुसपैठ पर झूठ क्यों बोल रहे PM?

60

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी ने पूछा है कि चीनी घुसपैठ पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी झूठ क्यों बोल रहे हैं. राहुल ने यह सवाल एक रिपोर्ट को शेयर करते हुए पूछा, जिसमें लिखा है कि रक्षा प्रतिष्ठान ने आधिकारिक तौर पर स्वीकार किया है कि चीनी सैनिकों ने मई में पूर्वी लद्दाख में भारतीय क्षेत्र में घुसपैठ की थी.

रक्षा मंत्रालय की साइट पर अपलोड किए गए नए दस्तावेज में लिखा है, ‘चीनी पक्ष ने 17-18 मई को कुंगरांग नाला (पेट्रोलिंग प्वॉइंट 15 के पास, हॉट स्प्रिंग्स के उत्तर में), गोगरा (पीपी -17 ए) और पैंगोंग त्सो के उत्तरी किनारे के क्षेत्रों में अतिक्रमण किया है. 5 मई के बाद से गलवान घाटी में तनाव बढ़ा है.’

रक्षा मंत्रालय के दस्तावेज के मुताबिक, ‘5 मई के बाद से एलएसी के साथ और गलवान घाटी में चीनी आक्रामक रुख अख्तियार किए हुए है. चीनी सेना ने 17-18 मई को कुंगरांग नाला, गोगरा और पैंगोंग त्सो के क्षेत्रों में अतिक्रमण किया.’ खास बात है कि रक्षा मंत्रालय ने transgression यानी अतिक्रमण शब्द का इस्तेमाल किया है.

इसी दस्तावेज में लिखा है कि एलएसी पर तनाव कम करने के लिए 6 जून को दोनों देशों के बीच कॉर्प्स कमांडर स्तर की बातचीत हुई थी. इस बातचीत के बाद भी 15 जून को गलवान घाटी में दोनों देशों के सेनाओं के बीच हिंसक झड़प हुई, जिसमें दोनों देशों के कई सैनिक शहीद और घायल हो गए थे.

इस घटना के बाद 22 जून को कॉर्प्स कमांडर स्तर के बीच दूसरे राउंड की बातचीत हुई. सैन्य के साथ राजनयिक स्तर पर एलएसी पर तनाव कम करने के लिए बातचीत हुई. बावजूद इसके दोनों देशों की सेनाओं के बीच गतिरोध जारी है. इस गतिरोध के लंबे समय तक रहने की संभावना है.

रक्षा मंत्रालय के दस्तावेज के मुताबिक, चीन द्वारा एकतरफा आक्रामकता से पैदा हुई पूर्वी लद्दाख में स्थिति संवेदनशील बनी हुई है और स्थिति पर करीबी निगरानी और त्वरित कार्रवाई की आवश्यकता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here