पार्टी में फूट पर बोले दिग्विजय सिंह , बेटा हो या भाई भाजपा में जो जाएगा उसे चुनाव हारने की पूरी कोशिश

325

कांग्रेस छोड़कर जाने वाले नेताओं पर मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री दिग्विजय सिंह ने जमकर निशाना साधा है। दिग्विजय सिंह ने शुक्रवार को पार्टी के प्रति आस्‍था जताते हुए कहा कि कांग्रेस से बढ़कर उनके लिए कुछ नहीं है। अपना हो या पराया, चाहे बेटा जयवर्धन सिंह हो या भाई लक्ष्मण सिंह, जो भी कांग्रेस छोड़कर भाजपा या किसी दूसरी पार्टी में जाएगा, उसे चुनाव हरवाने के लिए पूरी ताकत से काम करेंगे।

मेरे लिए पार्टी सबसे पहले

दिग्विजय सिंह ने दैनिक जागरण के सहयोगी प्रकाशन नईदुनिया से विशेष चर्चा में यह बात कही। ज्योतिरादित्य सिंधिया के कांग्रेस छोड़ने के बाद उनके (सिंधिया) खिलाफ कांग्रेस का झंडा लेकर आगे चल रहे दिग्विजय सिंह ने एकबार फिर यह बात कहकर पार्टी के प्रति अपनी आस्था प्रकट की है। उन्होंने कहा कि मेरे लिए पार्टी से ऊपर कोई नहीं है। मेरे लिए पार्टी सबसे पहले है।

पार्टी के हित में काम करूंगा

दिग्विजय सिंह ने कहा कि यदि मेरा बेटा जयवर्धन सिंह या भाई लक्ष्मण सिंह भी कांग्रेस छोड़कर भाजपा या किसी दूसरे दल में जाते हैं तो मैं उनके खिलाफ भी पार्टी के हित में काम करूंगा। ऐसी परिस्थिति में जयवर्धन सिंह को भी राघौगढ़ से चुनाव हरवाने के लिए कोई कसर नहीं छोड़ेंगे। दिग्विजय ने कहा कि उनके भाई लक्ष्मण सिंह ने भी एकबार कांग्रेस छोड़ी थी और भाजपा में चले गए थे। तब उन्‍होंने उनके खिलाफ भी काम किया था।

लक्ष्मण से अब तक रिश्ते सामान्य नहीं

लक्ष्मण सिंह कांग्रेस से भाजपा में गए थे और लोकसभा चुनाव जीतकर भाजपा से सांसद भी रहे थे। इसके बाद लक्ष्मण सिंह के बड़े भाई दिग्विजय सिंह से अब तक संबंध सामान्य नहीं हो सके हैं। वह वापस कांग्रेस में आ गए हैं। अब वह कांग्रेस में रहते हुए भी दिग्विजय सिंह को ट्वीट के माध्यम से सलाह देते हैं और चांचौड़ा को जिला बनवाने की मांग को लेकर वे दिग्विजय सिंह के सरकारी आवास पर धरना तक दे चुके हैं।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here