महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ के लिए रवाना होंगी केंद्र की टीमें, राज्यों में कोरोना के बढ़ते मामलों पर कसेगी लगाम

    302

    प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बढ़ते कोरोना के प्रकोप को देखते हुए कोरोना वायरस और टीकाकरण को लेकर हाई लेवल की मीटिंग की। पीएम मोदी ने कहा है कि कोरोना पर निंयत्रण पाने के लिए लोगों में जागरूकता और उनकी भागीदारी सबसे अहम है। इसके अलावा पीएम मोदी ने बैठक के आखिर में कहा है कि वायरस के आ रहे नए मामलों को देखते हुए और मौतों की संख्या को देखते हुए महाराष्ट्र, पंजाब और छत्तीसगढ़ में केंद्र से टीमें भेजी जाएंगी।

    रविवार को हुई इस हाई-लेवल मीटिंग में वरिष्ठ अधिकारियों ने भाग लिया – जिसमें कैबिनेट सचिव, प्रधान मंत्री के प्रधान सचिव और स्वास्थ्य सचिव शामिल थे। पीएम मोदी ने इस बैठक की अध्यक्षता की। इसमें कोरोना के खिलाफ अपनाए जाने वाले उपायों को मजबूत करने का निर्णय भी लिया गया। पीएमओ के मुताबिक पीएम मोदी ने वायरस के रोकथाम उपायों को बेहतर तरीके से लागू करने को खास जरूरत बताया।

    एम्स चीफ और सरकार के टास्क फोर्स के टॉप सदस्य डॉक्टर रणदीप गुलेरिया ने कहा है कि म्यूटेंड स्ट्रेन्स मामलों में आने वाले उछाल का एक बड़ा कारण है। उन्होंने इससे निपटने के कुछ सुझाव भी शेयर किये जिनमें- कंटेनमेंट जोन बनाना, लॉकडाउन, टेस्टिंग. ट्रेसिंग और आइसोलेशन शामिल है।

    रविवार को, महाराष्ट्र में नाईट कर्फ्यू सहित कई प्रतिबंध लगाए जाने की घोषणा की गई। राज्य ने पिछले 14 दिनों में देश के कुल मामलों में 57 प्रतिशत और देश में कोरोना से होने वाली मौतों में 47 प्रतिशत का योगदान दिया है। महाराष्ट्र में प्रति दिन नए मामलों की संख्या 47,913 तक पहुंच गई है – जो पहले के मुकाबले लगभग दोगुनी है।

    पंजाब ने पिछले 14 दिनों में देश में मामलों की संख्या में 4.5 प्रतिशत का योगदान दिया है। इसके अलावा इसने 16.3 प्रतिशत मौतों में भी योगदान दिया है, पीएम कार्यालय ने इसे “गंभीर चिंता” का मामला बताया है।

    छत्तीसगढ़ ने पिछले 14 दिनों में देश के कुल मामलों में 4.3% का योगदान दिया है, लेकिन वहीं दूसरी तरफ मरने वालों की दर 7 प्रतिशत को पार कर गई है।

    मीटिंग के दौरान पीए मोदी ने 5 फोल्ड स्ट्रैटर्जी की बात की जिसमें कहा गया कि अगर टेस्टिंग, ट्रेसिंग, ट्रीटमेंट, गाइडलाइंस के मुताबिक व्यवहार और वैक्सीनेशन को गंभीरता से अपनाया जाता है तो हम इस महामारी को रोकने में प्रभावी होंगे।

    पिछले 24 घंटों में देश में सितंबर के बाद से कोविड मामलों में सबसे बड़ा दैनिक उछाल देखा गया, जिसमें 93,249 ताज़ा मामले सामने आए, जिसके बाद कोरोना मामलों का टैली 1.24 करोड़ को पार गया। यह 19 सितंबर के बाद आने वाला सबसे बड़ा आंकड़ा है, इससे पहले सिंतबर में 93,337 मामले दर्ज किए गए थे।