स्वनिधि योजना के तहत प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी लाभार्थियों से कर रहे हैं संवाद

975

प्रधानमंत्री नरेन्‍द्र मोदी आज यानी 27 अक्‍टूबर को ‘प्रधानमंत्री स्‍वनिधि योजना’ के उत्तर प्रदेश के लाभार्थियों के साथ वीडियो कॉन्‍फ्रेंसिंग के जरिए संवाद कर रहे हैं। इस मौके पर उत्तर प्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ भी उपस्थित हैं। प्रधानमंत्री स्‍ट्रीट वेंडर्स आत्‍मनिर्भर निधि (पीएम स्‍वनिधि) योजना की शुरुआत सड़कों और पटरियों पर सामान बेचने वाले उन गरीब लोगों के लिए 1 जून, 2020 को की गई थी जो कोविड-19 के चलते प्रभावित हुए थे। इन लोगों ने अपनी आजीविका पुन: शुरू कर दी है और अब तक इस योजना के अंतर्गत 24 लाख से अधिक आवेदन प्राप्‍त हुए हैं। इनमें से 12 लाख आवेदनों को मंजूरी दी जा चुकी है और लगभग 5.35 लाख के ऋण वितरित किये जा चुके हैं। उत्तर प्रदेश में 6 लाख से अधिक आवदेन प्राप्त हुए हैं जिनमें से 3.27 लाख को मंजूरी दी जा चुकी है और 1.87 लाख का ऋण वितरित किया जा चुका है।

सर पहले हम सब्जी बेचते थे। लॉकडाउन के दौरान हमारी स्थिति खराब हो गई। इस योजना से हमें काफी फायदा हुआ। सभी अधिकारियों ने हमारी मदद की। इस दस हजार की मदद से हमने सब्जी से फलों की दुकान लगा ली।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी मंगलवार को पीएम स्वनिधि योजना के लाभार्थियों से बातचीत करेंगे। इनमें बनारस के भी दो लाभार्थी शामिल हैं। खास यह कि इन लाभार्थियों से बातचीत के दौरान प्रधानमंत्री फूड स्टॉल पर मोमो, कॉफी, चाट भी बनते देखेंगे। दुर्गाकुंड में मोमो व कॉफी का स्टॉल लगाने वाले अरविंद मौर्या व नेहरू मार्केट में चाट विक्रेता शशि गुप्ता से सीधी बातचीत होगी। इनके अलावा दो हजार से ज्यादा लाभार्थी इस कार्यक्रम का हिस्सा होंगे।

दीनदयाल हस्तकला संकुल, अस्सी घाट, आशापुर में छाया वाटिका, कमिश्नरी सभागार, पराड़कर भवन, सारनाथ म्यूजियम, जवाहरलाल नेहरू मार्केट, भारत सेवाश्रम फल मंडी व रविदास गेट के पास एलईडी स्क्रीन लगाई गई है। इसके अलावा मोबाइल एलईडी स्क्रीन वैन शहर में घूमेंगी। सोमवार को दोनों लाभार्थियों के फूड स्टॉल के पास भी स्क्रीन लगाई गई। दीनदयाल हस्तकला संकुल में करीब एक हजार लाभार्थियों के बैठने की व्यवस्था की गई है।