अडानी और हिंडनबर्ग रिपोर्ट पर विपक्ष का संसद में जोरदार हंगामा…

165
bhn
bhn

बजट सत्र के तीसरे दिन की शुरुआत में ही संसद में आज अडानी समूह के शेयरों में बड़ी गिरावट का मुद्दा छाया रहा। केंद्र सरकार ने आज संसद में राष्ट्रपति मुर्मु के अभिभाषण पर धन्यवाद प्रस्ताव पेश करना है। इस बीच विपक्ष ने संसद की कार्रवाई शुरू होते ही अडानी और हिंडनबर्ग रिपोर्ट पर जोरदार हंगामा कर दिया, जिसके चलते संसद की कार्रवाई को दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दिया गया। विपक्षी नेताओं ने अडानी पर हिंडनबर्ग की रिपोर्ट पर चर्चा की मांग की।

हिंडनबर्ग रिपोर्ट की जांच के लिए बनें संसदीय कमेटी: विपक्ष
कारोबारी गौतम अदाणी के खिलाफ हिंडनबर्ग की रिपोर्ट को लेकर विपक्ष ने संसदीय कमेटी बनाने की मांग की है। कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा है कि सीजेआई की निगरानी में संयुक्त संसदीय समिति (जेपीसी) गठित की जाए, जिससे लोगों के सामने सच आ सके।

इसे भी पढ़े : स्वामी प्रसाद मौर्य ने फिर दिया भड़काऊ बयान, कहा: “इंडियंस आर डाग”

लोगों की गाढ़ी कमाई खतरे में
कांग्रेस अध्यक्ष मल्लिकार्जुन खरगे ने संसद में बिजनेस नोटिस दिया था। उन्होंने बताया कि हमने बाजार मूल्य खोने वाली कंपनियों में एलआईसी, सार्वजनिक क्षेत्र के बैंकों और वित्तीय संस्थानों द्वारा निवेश के मुद्दे पर चर्चा के लिए नियम 267 के तहत बिजनेस नोटिस दिया है। खरगे ने कहा कि लोगों का पैसा चंद कंपनियों को दिया जा रहा है और करोड़ों भारतीयों की गाढ़ी कमाई खतरे में पड़ गई है।

CJI की निगरानी में बने जेपीसी
मल्लिकार्जुन खरगे ने कहा कि केंद्र को अडानी मामले की जांच के लिए CJI की निगरानी में एक जेपीसी का गठन करना चाहिए और प्रतिदिन रिपोर्ट लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि एलआईसी, एसबीआई और अन्य राष्ट्रीयकृत बैंकों में निवेश कर लोग करोड़ों रुपये गंवा रहे हैं।