आर्यन खान की जमानत के डिटेल ऑर्डर पर नवाब मलिक का ट्वीट – कहा ‘वसूली करने के लिए फर्जीवाड़ा रचा गया,यह पहले से ही प्लान किया गया था

289
Nawab Mallik Money Laundering case

मुंबई क्रूज ड्रग्स मामले (Mumbai Cruise Drug Case) में फिलहाल शाहरुख खान (SRK) के बेटे आर्यन खान (Aryan Khan) जमानत पर हैं. उनकी जमानत से जुड़ा मुंबई उच्च न्यायालय (Bombay High Court) के ऑर्डर की डिटेल कॉपी सामने आ गई है. कोर्ट ने यह साफ किया है कि आर्यन खान के पास से ड्रग्स बरामद नहीं हुआ था. ना ही उनके चैट से यह साबित होता है कि वे ड्रग्स से जुड़ी किसी साजिश का हिस्सा थे. कोर्ट ने कहा कि ऐसा कोई सबूत नहीं है, जो यह दिखाता है कि आरोपियों ने अपराध करने के लिए कोई प्लानिंग की. आर्यन खान और अरबाज मर्चंट स्वतंत्र रूप से क्रूज पर यात्रा कर रहे थे. जमानत से जुड़ी इस डिटेल ऑर्डर कॉपी पर एनसीपी नेता और मंत्री नवाब मलिक (Nawab Malik) ने ट्वीट कर अपनी प्रतिक्रिया दी है.

नवाब मलिक ने ट्वीट कर कहा है, ‘उच्च न्यायालय का आदेश यह साबित करता है कि आर्यन खान केस वसूली के लिए किडनैप किए जाने का केस है. यह पहले से ही प्लान किया गया था. वसूली करने के लिए उन्हें फंसाया गया और किडनैप किया गया. लेकिन एक सेल्फी बाहर आ गई और सारा प्लान फेल हो गया. इस पूरे फर्जीवाड़े का अब भांडा फूट गया है.’

नवाब मलिक ने ट्वीट में आर्यन खान की जमानत के ऑर्डर के कुछ प्वाइंटर्स गिनाए
नवाब मलिक ने आर्यन खान की जमानत के डिटेल ऑर्डर के कुछ प्वाइंटर्स हाइलाइट किए हैं. नवाब मलिक ने यह रेखांकित किया कि, ‘हाईकोर्ट ने आरोपी के खिलाफ कोई आपराधिक सबूत नहीं पाया. आर्यन खान के वाट्स अप चैट से अपराध की प्लानिंग का कोई सबूत नहीं मिलता. आर्यन खान के पास से कोई भी आपत्तिजनक चीज बरामद नहीं हुई. मुनमुन धमेचा और अरबाज मर्चंट के पास काफी कम मात्रा में ड्रग्स बरामद हुए. मिल कर इस तरह की प्लानिंग करने का कोई आधार नहीं है. आर्यन के चैट से किसी भी तरह की साजिश का कोई सबूत नहीं है. ऐसा शायद ही कहीं कोई सबूत मिले कि अपराध करने के लिए कोई साजिश रची गई थी.’ यानी आर्यन खान केस बनाया गया. वसूली के लिए आर्यन खान को किडनैप किया गया. अब यह फर्जीवाड़ा एक्सपोज हो गया है.

समीर वानखेड़े के तत्काल निलंबन की मांग
इसके अलावा नवाब मलिक ने अब केंद्र सरकार से मांग की है कि, ‘ यह स्पष्ट हो गया है कि समीर वानखेड़े झूठे मामले में लोगों को फंसा कर वसूली का धंधा चलाते हैं. अब समय आ गया है कि केंद्र सरकार इस भ्रष्ट अधिकारी पर को तत्काल निलंबित करे. अगर अभी भी इन पर कार्रवाई नहीं होती है तो यह मैसेज जाएगा कि बीजेपी का इनके पीछे हाथ है.’