प्रेमी के साथ घर से भागी नाबालिग, मां-बाप ने अपनाने से किया इनकार, अब शेल्टर होम से 12वीं में किया टॉप..

177

तेलंगाना स्टेट बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट एजुकेशन के 12वीं कक्षा के नतीजे ने बाल गृह में रह रही एक छात्रा के जीवन की कहानी को पूरी तरह से बदल कर रख दिया है. करीब दो साल पहले छात्रा उस वक्त अपने घर से फरार हो गई, जब उसे पता चला कि उसके रिलेशनशिप की भनक उसके माता-पिता को लग गई है. हालांकि पुलिस जब छात्रा को बरामद कर घर ले आई तो उसके माता-पिता ने अपने साथ रखने से मना कर दिया. इसके बाद अधिकारियों ने बच्ची को बाल गृह भेज दिया, जहां उसने अपनी पढ़ाई जारी रखी. तेलंगाना स्टेट बोर्ड ऑफ इंटरमीडिएट एजुकेशन के 12वीं कक्षा के नतीजे पिछले हफ्ते घोषित होने तक छात्रा की यही कहानी थी.

माता-पिता ने नाबालिग छात्रा से घर लौटने को कहा

रिपोर्ट के मुताबिक छात्रा ने कल्लम अंजी रेड्डी वोकेशनल जूनियर कॉलेज में अपनी कक्षा में टॉप करने के लिए 1,000 में से 945 अंक हासिल किए. उसने बातचीत करते हुए बताया, “एक या दो महीने पहले, मैंने अपने माता-पिता से बात करना शुरू किया. वे मेरे नंबर से खुश थे और मुझे घर लौटने के लिए कहा.” एक नाबालिग लड़की, जिसने प्यार के लिए घर छोड़ा और अब उसने 12वीं में टॉप किया है. भारतीय मूल की अमेरिकी अंतरिक्ष यात्री सुनीता विलियम्स से प्रेरित होकर 16 साल की उम्र में एयरोनॉटिकल इंजीनियरिंग की पढ़ाई करना चाहती है.