स्वदेशी वेंटिलेटर के निर्यात के लिए स्वास्थ्य मंत्रालय की मिली मंजूरी

428

मृत्युदर गिरकर 2.1 फीसदी पहुंचने के बाद देश में निर्मित वेंटिलेटर को निर्यात करने के स्वास्थ्य विभाग प्रस्ताव को मंत्री समूह ने मंजूरी दे दी है. स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि 31 जुलाई तक केवल 0.22 फीसदी मरीजों को वेंटिलेटर सपोर्ट की जरूरत पड़ी है.

मंत्रालय ने बताया कि मंत्री समूह के फैसले को लेकर डायरेक्टर जनरल ऑफ फॉरेन ट्रेड (डीजीएफटी) से भी बात हुई थी. स्वास्थ्य विभाग को उम्मीद है कि देश में निर्मित वेंटिलेटर के निर्यात की मंजूरी के बाद विदेशी बाजार में उसका दखल बढ़ेगा और देश के वेंटिलेटर निर्माता मजबूत होंगे. 24 मार्च को डीजीएफटी ने सभी वेंटिलेटर के निर्यात पर रोक लगा दी थी.