मायावती ने कांग्रेस पर कसा तंज, राहुल गांधी की सदस्यता रद्द करने पर दिया बड़ा बयान..

164
Mayawati

कांग्रेस पार्टी के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी को लोकसभा की सदस्यता से अयोग्य ठहराये जाने के बाद बहुजन समाज पार्टी की मुखिया मायावती ने चुप्पी तोड़ दी हैं। बहुजन समाज पार्टी की मुखिया और यूपी की पूर्व मुख्यमंत्री मायावती ने ट्वीट कर 1975 में कांग्रेस सरकार द्वारा लगाए गए आपातकाल पर सवाल उठाए। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी को यह ज़रूर सोचना चाहिए कि साल 1975 में जो कुछ हुआ वह क्या सही था और अब उनके नेता राहुल गांधी के साथ जो कुछ हो रहा है वो भी कितना उचित है।

ईमानदारी व निष्ठा के साथ काम करती होतीं

दरअसल मायावती ने ट्वीट करते हुए कहा की, पहले कांग्रेस व अब BJP सरकार द्वारा हर स्तर पर अधिकांश मामलों में घोर स्वार्थ की राजनीति करने के कारण ही ग़रीबी, बेरोज़गारी व पिछड़ेपन आदि की गंभीर समस्याओं को दूर करने की व्यापक जनहित, जन कल्याण व देश हित के ज़रूरी काम पर पूरा ध्यान नहीं देना अति दुखद व दुर्भाग्यपूर्ण। उन्होंने कहा की, एक दूसरे के प्रति राजनीतिक द्वेष, नफ़रत आदि से देश का ना पहले भला हुआ है और न ही आगे होने वाला है। मायावती ने एक और ट्वीट करते हुए कहा की, आज़ादी के बाद बीते 75 वर्षों में यहाँ रही विभिन्न सरकारें अगर संविधान की पवित्र मंशा तथा लोकतांत्रिक मर्यादाओं व परंपराओं के अनुसार ईमानदारी व निष्ठा के साथ काम करती होतीं तो भारत वास्तव में अग्रणी व आदर्श मानवतावादी विकसित देश बन गया होता।