लखनऊ: हाथों में मेहंदी सजाए दुल्हन करती रही इंतजार, दूल्हा लेकर नहीं आया बारात..

150

पहले दो लाख रुपये न मिलने पर दुल्हा बारात लेकर नहीं आया उधर दुल्हन हाथों में मेहंदी सजाए ससुराल जाने के सपने संजोए बैठी रही। बारात न आने पर लड़की वालों को नाते-रिश्तेदार के सामने शर्मिंदगी झेलनी पड़ी। इसके बाद लड़की की मां ने ठाकुरगंज थाने में लिखित शिकायत देते हुए दूल्हे और उसके मामा के खिलाफ प्राथमिकी दर्ज करवाई है।

अचानक नकद दो लाख रुपयों की मांग की

दरअसल न्यू हैदरगंज निवासिनी शाजिया ने बेटी मंताश का निकाह हबीबपुर निवासी इश्तियाक उर्फ रेहान से तय किया था। 12 मार्च को बारात आनी थी। लड़की पक्ष ने बारातियों के स्वागत के सारे इंतजाम किए थे। बावजूद इसके बारात नहीं आई। आरोप है कि शादी से पहले दूल्हे ने अचानक नकद दो लाख रुपयों की मांग की थी। तत्काल रुपयों की मांग पूरी करना संभव नहीं था।

ऐसे में लड़की पक्ष ने शादी के बाद रुपये देने का वादा भी किया मगर दूल्हा जिद पर आड़ रहा। आरोप है कि दूल्हे के मामा हैदर ने पीड़िता को कॉल पर कहा कि उनका भांजा शादी नहीं करना चाहता है और बारात लाने से मना करते हुए फोन कट कर दिया। पीड़िता ने बताया कि घर से सारे महेमान आ चुके थे। अचानक दूल्हे का व्यवहार देख लोग हैरत रह गए।