मुंबई मे भारी बारिश से कई इलाकों में जलभराव, मरीन ड्राइव के पास टकराई समुद्र की ऊंची लहरें

502
मुंबई में बारिश से बुरा हाल

महाराष्ट्र की राजधानी का बारिश से बुरा हाल है. बुधवार को हुई लगातार बारिश की वजह से शहर के कई हिस्सों में पानी भर गया. यातायात ठप हो गया है और लोग जहां-तहां फंस गए हैं. 12 घंटे में मुंबई और कोलाबा में इतनी बारिश हुई है जिसने 46 साल के रिकॉर्ड को तोड़ दिया है. गुरुवार को भी मुंबई के लिए तेज बारिश और हवाएं चलने का अलर्ट जारी किया गया है. मरीन ड्राइव पर हई टाइड ने दस्तक दे दी है. वहीं लोगों से घरों के अंदर रहने की अपील की गई है. भारतीय मौसम विभाग ने मुंबई शहर और उपनगरों में अगले 3-4 घंटों में 60-70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के साथ मध्यम से भारी वर्षा होने की संभावना जताई है.

बृहन्मुंबई नगर निगम के आयुक्त आईएस चहल ने पेडर रोड का दौरा किया जहां एक दीवार का एक हिस्सा ढह गया है. उन्होंने कहा, ‘चार वार्ड कोलाबा, नरीमन पॉइंट एंड मरीन ड्राइव में कल चार घंटों में 300 मिमी बारिश हुई. यह अभूतपूर्व था. जलजमाव वाले क्षेत्रों को जल्द ही ठीक कर दिया गया.’ आईएमडी ने कहा कि कोलाबा में पिछले 24 घंटों में 331.8 मिमी बारिश हुई. वहां आज दोपहर एक बजकर 51 मिनट पर यहां हाई टाइड आने की उम्मीद है.

ठाणे नगर निगम आयुक्त ने कहा, ‘ठाणे नगर निगम क्षेत्र में पिछले तीन दिनों से बहुत भारी बारिश हो रही है. पांच अगस्त को 149 मिमी बारिश हुई, हम सतर्क हैं. सहायक और उपायुक्त, फील्ड पर दमकलकर्मियों के साथ हैं. मैं निवासियों से अनावश्यक रूप से घरों से बाहर नहीं निकलने की अपील करता हूं.’

भारतीय मौसम विभाग (आईएमडी) का कहना है, ‘मुंबई शहर और उपनगरों में अगले 3-4 घंटों में 60-70 किमी प्रति घंटे की रफ्तार से चलने वाली तेज हवाओं के साथ मध्यम से भारी वर्षा होने की संभावना है. कुछ क्षेत्रों में गड़गड़ाहट/ बिजली कड़कने की भी आशंका है.’

रेलवे ट्रैक पर पानी भरने से मुंबई की मस्जिद और भायखला स्टेशन के बीच दो लोकल ट्रेनें फंस गई हैं. रेलवे कर्मचारियों ने सीएसटी से कर्जत जाने वाले 150 यात्रियों को बचाया है, लेकिन अब भी दोनों ट्रेनों में करीब 200 लोग फंसे हुए हैं.

बड़ी बातें

  • मुंबई पुलिस, रेलवे पुलिस, NDRF, बीएमसी की कई टीमें अलग-अलग इलाकों में तैनात हैं.
  • 150 से अधिक पेड़ गिरने की शिकायतें आ चुकी हैं, जिन्हें अब हटाया जा रहा है.
  • अलग-अलग इलाकों में दस जगह शॉर्ट सर्किट होने की शिकायत आई हैं.
  • बीएमसी के पास 6 जगह घर या दीवार गिरने की शिकायत आई है, इनमें कोई घायल नहीं हुआ है.
  • शेयर बाजार यानी BSE की बिल्डिंग पर लगा बोर्ड भी बारिश के कारण गिर गया.

तेज बारिश की वजह से मुंबई के निचले इलाकों में पानी भर गया है, घरों के अंदर तक पानी आ गया है और लोगों को सहायता मांगनी पड़ रही है. चेंबूर, पारेल, हिन्दमाता, वडाला समेत कई इलाकों में ट्रेन सर्विस अन्य यातायात की सर्विस को पूरी तरह से रोक दिया गया है. कुछ जगह लोगों को बचाने के लिए प्रशासन को बोट तक चलानी पड़ी. बुधवार को मुंबई की बारिश का हाल चक्रवाती तूफान निसर्ग से भी ज्यादा खतरनाक नजर आया. कोलाबा में अगस्त में 46 साल बाद 12 घंटे में 294 एमएम बारिश दर्ज की गई. इसके कारण दक्षिण मुंबई में सालों बाद सड़कों पर काफी ज्यादा पानी दिखाई दिया. इससे पहले 1974 के अगस्त महीने में कोलाबा में 262 एमएम बारिश का रिकॉर्ड था जबकि बुधवार को यहां 294 एमएम बारिश हुई. यहां हवा की रफ्तार 106 किमी प्रति घंटा दर्ज की गई है. कई इलाकों में एनडीआरएफ की टीमें तैनात कर दी गई हैं.

इन जगहों पर तैनात हैं एनडीआरएफ की टीमें

  • कोल्हापुर (4 टीमें)
  • सांगली (2 टीमें)
  • सतारा (1 टीम)
  • ठाणे (1 टीम)
  • पालघर (1 टीम)
  • मुंबई (5 टीमें)
  • नागपुर (1 टीम)

शिवसेना नेता और महाराष्ट्र सरकार में मंत्री आदित्य ठाकरे ने लोगों से घरों में रहने की अपील की है. उन्होंने ट्वीट कर कहा, ‘आंधी और तेज बारिश की आशंका बनी हुई है. ऐसे में बिना जरूरत के घरों से बाहर ना निकलें. पुलिस और शहरी/ ग्रामीण स्थानीय निकाय के कर्मचारी सड़कों पर हैं.’ 

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने भी देर शाम को महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे से फोन पर बात की और राज्य के हालात का जायजा लिया. पीएम की ओर से सीएम को केंद्र की ओर से मिलने वाली हर संभव मदद का भरोसा दिलाया गया.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here