Farmers Protest updates: केंद्र के साथ किसान नेताओं की 5वें दौर की बैठक जारी, कृषि कानूनों को पूरी तरह से रद्द करने की मांग पर अड़े हैं किसान

546

कृषि कानून के खिलाफ किसानों का आज 10वें दिन भी विरोध जारी है। दिल्ली बॉर्डर पर जमे किसान संगठनों और सरकार के बीच आज पांचवें दौर की बातचीत होगी। गुरुवार को हुई चौथे दौर की बातचीत में कोई सहमति नहीं बन पाई थी। किसान संगठन कानून को पूरी तरह वापस लेने पर अड़े हैं। इसके लिए संसद का विशेष सत्र बुलाने की भी मांग की गई है।

किसानों का प्रदर्शन दिनोंदिन व्यापक होता जा रहा है। इसे समाज के बड़े वर्ग का समर्थन मिल रहा है। इस कड़ी में अब मंदिर के महंतों का भी नाम जुड़ गया है। शनिवार को ग्रेटर नोएडा के जेवर में प्रदर्शनरत किसानों के समर्थन में जेवर मंदिर के महंत चंद्रमणि जी महाराज आज धरने पर बैठ गए हैं।

किसान नेताओं ने अपनी मांगों को दोहराते हुए कहा कि इन नए कृषि कानूनों को रद्द करने के लिए केन्द्र सरकार संसद का विशेष सत्र बुलाए। उन्होंने कहा कि प्रदर्शनकारी नए कानूनों में संशोधन नहीं चाहते हैं बल्कि वे चाहते हैं कि इन कानूनों को रद्द किया जाए। किसान अपनी मांगों को लेकर किसी भी सूरत में झुकने को तैयार नहीं हैं। किसानों ने सरकार से जल्द उनकी मांगे मानने की अपील की है। इसके साथ ही किसान संगठनों ने 8 दिसंबर को भारत बंद का ऐलान किया है साथ ही उन्होंने इस दिन टोल प्लाजाओं पर कब्जे की भी चेतावनी दी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here