हिमाचल प्रदेश में जेपी नड्डा ने कहा ,भाजपा की शक्ति, ”हमारी एकता है – किसी भी पार्टी की तुलना BJP से नहीं हो सकती

453

भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जे पी नड्डा ने यहां गुरुवार को कहा कि देश के तकरीबन सभी राजनीतिक दल परिवार आधारित हैं और उनमें से किसी भी दल की भाजपा से तुलना नहीं हो सकती। उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी में 18 करोड़ से ज्यादा सदस्य हैं, जिनमें दुनिया के सबसे अधिक स्वीकार्य नेता प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी भी शामिल हैं। नड्डा ने यहां पार्टी की कार्य समिति की बैठक में कहा, ”18 करोड़ से अधिक लोगों को सदस्य बनाना आसान नहीं है। किसी अन्य राजनीतिक पार्टी के पास इस संख्या के पास तक भी पहुंचने की ताकत नहीं है।” उन्होंने कहा, ”हम जनाधार, कार्यकर्ता आधारित संगठन हैं। दुनिया की सबसे स्वीकार्य हस्ती- नरेंद्र मोदी भाजपा से जुड़े हैं और यही हमारी ताकत है।”

नड्डा ने कहा, ”जब हम कहते हैं कि भाजपा का कोई मुकाबला नहीं है तो इसमें कोई अतिशयोक्ति नहीं है।” भाजपा अध्यक्ष ने कहा, ”हम भाग्यशाली हैं कि हम सही पार्टी के सदस्य हैं जो सामूहिक प्रयासों के साथ सांस्कृतिक राष्ट्रवाद का अनुसरण कर रही है और वैज्ञानिक तरीके से विकास कर रही है।” नड्डा ने कार्य समिति के सदस्यों से कहा कि भाजपा की शक्ति, ”हमारी एकता है और हमें पार्टी में अपने विकास के लिए नियमित रूप से आत्म-आकलन करना चाहिए।” भाजपा के आर्थिक मॉडल अन्त्योदय का उल्लेख करते हुए नड्डा ने कहा, ”यह पार्टी के सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास के दर्शन पर आधारित है और ये तीनों तत्व सरकार की सभी योजनाओं में शामिल हैं।”

उन्होंने भाजपा के संगठनात्मक ढांचे में हिमाचल प्रदेश के योगदान की बात करते हुए कहा कि पार्टी का पन्ना प्रमुख वाला बूथ आधारित ढांचागत मॉडल राज्य की देन है और हिमाचल प्रदेश को 2022 तक पन्ना समिति मॉडल अपनाना चाहिए। उन्होंने कहा कि भाजपा का जल्द ही देश के हर जिले में अपना कार्यालय होगा। इस अवसर पर पार्टी की राज्य इकाई के प्रभारी अविनाश राय खन्ना ने नड्डा के सुर में सुर मिलाते हुए कहा कि भाजपा सबसे अलग राजनीतिक दल है, जिसमें एक चाय विक्रेता भी देश का प्रधानमंत्री बन सकता है।

उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी के रूप में देश को पहली बार ऐसा प्रधानमंत्री मिला है, जो स्वयं को देश का सेवक बताता है और जिसने वीआईपी संस्कृति को समाप्त किया है। खन्ना ने कहा कि केंद्र में भाजपा के सत्ता में आने के बाद से देश 2014 से विकास पथ पर लगातार आगे बढ़ रहा है और कांग्रेस के कार्यकाल के विपरीत, भाजपा के कार्यकाल में पिछले छह साल में कोई घोटाला नहीं हुआ।