जम्मू-कश्मीर के लिए आज ऐतिहासिक दिन, प्रधानमंत्री मोदी 20 हजार करोड़ की विकास योजनाओं की करेंगे शुरुआत

334
pm-odi-interaction-with-bjp-workers

जम्मू-कश्मीर के लिए आज का दिन ऐतिहासिक दिन होनेवाला है. आज पीएम मोदी जम्मू-कश्मीर के पुनर्गठन के बाद पहली बार वहां पहुंचेंगे और पहली बार रैली को संबोधित करेंगे. राष्ट्रीय पंचायत दिवस के अवसर पर आज पीएम की यह रैली लोकतंत्र की बहाली पर सवालिया निशान लगाने वालों के लिए करारा जवाब होगा. बता दें कि जम्मू-कश्मीर में त्रिस्तरीय पंचायत राज व्यवस्था को बहाल कर दिया है. आज पीएम मोदी अपने संबोधन में उन सभी बातों का उल्लेख करेंगे जो जम्मू-कश्मीर में पहले पंचायती राज व्यवस्था की बहाली में रुकावट बने हुए थे. पीएम के साथ पंच-सरपंच भी अपने अनुभव उनके साथ साझा करेंगे.इसके साथ ही जम्मू-कश्मीर के विकास को लेकर लगातार प्रतिबद्धिता जाहिर करने वाले प्रधानमंत्री जम्मू-कश्मीर में 20 हजार करोड़ रुपये से अधिक की कई विकास परियोजनाओं का उद्घाटन और शिलान्यास भी करेंगे.

पाकिस्तान सीमा से करीब 10 किमी एरियल डिस्टेंस की दूरी पर स्थित पल्ली गांव से रविवार को प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की रैली जम्मू-कश्मीर में राष्ट्रवाद, विकास, लोकतंत्र और जन सशक्तीकरण का संदेश देगी.

पीएम मोदी आज इन योजनाओं का करेंगे शिलान्यास…..
-प्रधानमंत्री मोदी चिनाब दरिया पर लगभग 1400 मेगावट की दो पनबिजली परियोजनाओं रतले व क्वार का नींव पत्थर रखेंगे. रतले की अनुमानित लागत 5300 करोड़ और क्वार की अनुमानित लागत 4500 करोड़ है.

-श्रीनगर-जम्मू राष्ट्रीय राजमार्ग पर वाहनों के आवागमन को सदाबहार बनाने वाली बनिहाल काजीगुंड सुरंग का लोकार्पण करेंगे।

-नई दिल्ली-कटड़ा एक्सप्रेस पर कार्य का आरंभ करेंगे.साथ ही लोगों को अच्छी गुणवत्ता वाली जेनरिक दवाएं सस्ती दरों पर उपलब्ध कराने के लिए वह 100 जन औषधी केंद्रों का उद्घाटन करेंगे.

-प्रधानमंत्री स्वामित्व योजना के लाभान्वित को उनकी अचल संपत्ति के कार्ड भी प्रदान करेंगे. विभिन्न वर्गों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाली पंचायतों को इनाम भी प्रदान करेंगे.

-जम्मू- कश्मीर के विभिन्न उत्पादों पर आधारित प्रदर्शनी का भी उदघाटन करेंगे. जिसके बाद देश-विदेश के प्रतिष्ठित पूंजी निवेशकों की मौजूदगी में 38 हजार करोड़ की औद्योगिक परियोजनाओं का भूमि पूजन होगा. इनमें संयुक्त अरब अमीरात के उद्योगपति शामिल होंगे. सीमेंट, खनिज, प्लास्टिक, खाद्य प्रसंस्करण, स्वास्थ्य, सेवा क्षेत्र और आइटी और इलेक्ट्रानिक्स और स्वास्थ्य क्षेत्र की इकाइयों की स्थापना के लिए यह भूमि पूजन होगा.

-छह हजार बिस्तरों वाले अस्पतालों के साथ मेडिसिटी बनेगी. वहीं पल्ली गांव में 500 किलोवाट का सौर ऊर्जा संयंत्र जनता को समर्पित किया जाएगा. देश के प्रत्येक जिले में 75 जल निकायों के विकास और पुनर्बहाली के लिए अपनी पहल अमृत सरोवर का शुभारंभ करेंगे.