राजस्थान: जालोर में करंट की चपेट में आई यात्रियों से भरी बस, ड्राइवर समेत जिंदा जले छह लोग, 36 झुलसे

    544

    राजस्थान के जालोर जिले में शनिवार देर रात एक हादसे में बस में सवार कम से कम छह लोगों की मौत हो गई। यह हादसा उस समय हुआ जब एक बस अनियंत्रित होकर 11 हजार वोल्ट की हाइटेंशन तार से जा टकराई और उसमें आग लग गई। यह घटना रात लगभग 10.45 बजे घटी। 

    घटना में छह लोग जिंदा जल गए जबकि 36 झुलस गए हैं। ज्यादार को जालोर के जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। वहीं कुछ की हालत गंभीर है और उन्हें जोधपुर रेफर कर दिया गया है। पुलिस उपाधीक्षक हिम्मत सिंह के अनुसार यह हादसा महेशपुरा गांव के पास हुआ। एक बस चालक रास्ता भटककर ग्रामीण इलाके में चला गया जहां बस बिजली की तारों से टकरा गई और उसमें आग लग गई।

    बस में सवार सभी लोग जैन समाज के हैं, जो नाकोड़ा तीर्थ से दर्शन करने के बाद अजमेर और ब्यावर लौट रहे थे। झुलसने वाले कुछ लोगों की अभी पहचान होना बाकी है। हादसा जालोर जिले से सात किलोमीटर दूर महेशपुरा गांव में हुआ। जैन श्रद्धालु दो बसों में सवार होकर ब्यावर के लिए रवाना हुए थे।

    सभी श्रद्धालु जालोर जिले के जैन मंदिर मे दर्शन करने के लिए पहुंचे। दर्शन के बाद लौटते वक्त वे रास्ता भटक गए और महेशपुरा गांव पहुंच गए। गांव की संकरी गलियों से गुजरते वक्त बस हाइटेंशन तारों की चपेट में आ गई और उसमें आग लग गई। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार कंडक्टर तारों को हटाने के लिए बस के ऊपर चढ़ गया। इसी दौरान बस में करंट फैल गया और उसमें आग लग गई।

    मृतकों की मौत पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शोक व्यक्त करते हुए लिखा, ‘राजस्थान के जालोर में हुए बस हादसे की खबर से अत्यंत दुख पहुंचा है। इस दुर्घटना में कई लोगों को अपनी जान गंवानी पड़ी है। मैं उनके परिवार वालों के प्रति अपनी संवेदनाएं प्रकट करता हूं और घायलों के शीघ्र स्वस्थ होने की कामना करता हूं।’