जालंधर में कोरोना टेस्ट में 89.20 फीसद लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव, स्वास्थ्य विभाग ने ली राहत की सांस

251

कोरोना एक बार फिर जिले में सक्रिय होने लगा है। दूसरी ओर सैंपल नेगेटिव आने पर राहत महसूस करने वालों का आंकड़ा 89.20 फीसद तक पहुंच गया है। जिले में अब तक कुल 3,24,364 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए भेजे गए, जिनमें से 2,89,368 लोगों के सैंपल नेगेटिव आ चुके हैं। शुक्रवार को जिले में 113 कोरोना के मरीज सामने आए जबकि तीन की मौत हो गई। सरकारी व गैर सरकारी अस्पतालों से 58 मरीजों को छुट्टी देकर घर भेजा गया।

सिविल सर्जन डा. गुरिंदर कौर चावला ने बताया कि लोगों को कोरोना मुक्त रखने के लिए ज्यादा लोगों के सैंपल लेने के बाद नेगेटिव रिपोर्ट वालों का ग्राफ बढ़ा है। इससे इस बात का अंदाजा लगाया जा सकता है कि लोग कोरोना को लेकर सजग हैं। सेहत विभाग के अनुसार शुक्रवार को निजी स्कूल, सीआरपीएफ कैंपस, सरकारी स्कूल पचरंगा, निजी अस्पताल, सूर्या एंक्लेव के धार्मिक स्थल और नकोदर रोड स्थित निजी सेनेटरी की दुकान से कोरोना का एक-एक और सेना अस्पताल से छह लोग पाजिटिव पाए गए। इसके अलावा माडल टाउन से नौ, गुरु नानक नगर से सात, फ्रेंड्स कालोनी से चार, शहीद ऊधम सिंह नगर से तीन, नकोदर, टैगोर नगर, जेपी नगर, रोज पार्क, विजय नगर, निजात्म नगर, हाउसिंग बोर्ड कालोनी, अर्जुन नगर, आदर्श नगर, गांधी नगर तथा अर्बन एस्टेट से दो-दो लोग कोरोना पाजिटिव पाए गए।

सेहत विभाग के नोडल अफसर डा. टीपी सिंह ने बताया कि शुक्रवार को जिले में करीब 35 दिन बाद 113 कोरोना के मरीज सामने आए। जिले में मरीजों की संख्या 16,076 तक पहुंच गई। कोरोना से मरने वालों का आंकड़ा 496 है। शुक्रवार को 4310 लोगों के सैंपल लेकर जांच के लिए सरकारी मेडिकल कालेज फरीदकोट और आरडीडीएल में भेजे गए। 3110 लोगों के सैंपलों की रिपोर्ट नेगेटिव आने के बाद उन्होंने राहत की सांस ली।

बताया जाता है कि सांसद चौधरी संतोख सिंह कोरोना पाजिटिव पाए गए हैं। हालांकि सांसद के पीए दीपक ने कहा कि यह गलत सूचना है। चौधरी संतोख सिंह ने शुक्रवार देर रात कोरोना की जांच के लिए सैंपल दिए हैं, जिसकी रिपोर्ट आनी बाकी है।