भारतीय मूल की शेफाली राजदान बनेंगी नीदरलैंड में USA की राजदूत

228

अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन ने भारतीय मूल की राजनीतिक कार्यकर्ता शेफाली राजदान दुग्गल को नीदरलैंड में अपना राजदूत नामित करने की अपनी मंशा जाहिर की है. व्हाइट हाउस ने यह जानकारी दी. प्रवासी भारतीय 50 वर्षीय दुग्गल मूल रूप से भारत में कश्मीर से हैं. वह सिनसिनाटी, शिकागो, न्यूयॉर्क और बोस्टन में पली बढ़ी हैं. व्हाइट हाउस ने शुक्रवार को कई अन्य प्रमुख प्रशासनिक और राजनयिक पदों पर नियुक्ति की घोषणा के साथ दुग्गल को लेकर जानकारी दी.

व्हाइट हाउस ने कहा कि दो बच्चों की मां दुग्गल एक अनुभवी राजनीतिक कार्यकर्ता, महिला अधिकार की पैरोकार और मानवाधिकार प्रचारक हैं. वह होलोकॉस्ट मेमोरियल संग्रहालय परिषद के लिए पूर्व में राष्ट्रपति द्वारा नियुक्त की जा चुकी हैं और वेस्टर्न रीजन सलाहकार के रूप में काम कर रही हैं. दुग्गल मानवाधिकार निगरानी संस्था के सैन फ्रांसिस्को समिति की सदस्य हैं, वेक फॉरेस्ट यूनिवर्सिटी लीडरशिप एंड कैरेक्टर काउंसिल की सदस्य हैं और एमिलीज लिस्ट के लिए राष्ट्रीय निदेशक मंडल में शामिल हैं. उन्होंने न्यूयॉर्क यूनिवर्सिटी से राजनीति संचार में एमए किया है और मियामी विश्वविद्यालय में जनसंचार का भी अध्ययन किया है.

कई अवार्ड्स से सम्मानित की जा चुकी हैं दुग्गल
शेफाली राजदान दुग्गल कई नागरिक पुरस्कारों से सम्मानित हुई हैं, जिसमें यूएस होलोकॉस्ट मेमोरियल म्यूजियम द्वारा वेस्टर्न रीजनल लीडरशिप अवार्ड, कैलिफोर्निया स्टेट असेंबली द्वारा कम्युनिटी हीरो और नेशनल डायवर्सिटी काउंसिल द्वारा कैलिफोर्निया की सबसे शक्तिशाली महिलाओं में से एक के रूप में सम्मानित किया जाना शामिल है. व्हाइट हाउस ने कहा कि उन्होंने बाइडेन के लिए महिलाओं की राष्ट्रीय सह-अध्यक्ष और डेमोक्रेटिक नेशनल कमेटी में उप राष्ट्रीय वित्त अध्यक्ष के रूप में कार्य किया.

दुग्गल पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा के 2008 के राष्ट्रपति चुनाव अभियान में सक्रिय थीं और हिलेरी क्लिंटन के राष्ट्रपति चुनाव अभियान से भी जुड़ी थीं, जहां वह हिलेरी के चुनाव अभियान की उत्तरी कैलिफोर्निया संचालन समिति और महिलाओं के लिए हिलेरी समिति की सदस्य थीं.