कोरोना के नए स्ट्रेन के चलते भारत ने ब्रिटेन से आने वाली सभी फ्लाइट्स पर लगाई रोक, मंगलवार आधी रात से 31 दिसंबर तक ब्रिटेन से आने वाली सभी उड़ानें प्रतिबंधित

    449
    India-resumes-international-flights

    भारत में पिछले 24 घंटों में कोरोना वायरस संक्रमण के सिर्फ 19,556 नए मामले सामने आए हैं और इस दौरान 301 लोगों की मौत हुई है। जुलाई महीने के बाद से प्रतिदिन सामने आ रहे मामलों में ये सबसे कम है। पिछले कुछ दिनों से जहां कोरोना वायरस के नए स्‍ट्रेन को लेकर दुनियाभर में हड़कंप मचा हुआ है और कई देशों में कोविड-19 के मामलों में बढ़ोतरी हुई है, वहां भारत में संक्रमण की स्थिति काबू में नजर आ रही है।

    भारत में अब तक कोरोना वायरस संक्रमितों का आंकड़ा एक करोड़ के पार (1,00,75,116) भले ही पहुंच गया हो, लेकिन रिकवरी दर भी काफी बेहतर है। भारत में अब तक 96,36,487 लोग कोरोना वायरस को मात दे चुके हैं और सिर्फ 2,92,518 ही सक्रिय मामले हैं। इनमें से भी गंभीर केस बेहद कम हैं। ज्‍यादातर लोग घर पर ही अपना इलाज करा रहे हैं। भारत में अब तक 1,46,111 लोगों की इस जानलेवा वायरस से जान जा चुकी है। हालांकि, भारत में कोरोना वायरस संक्रमण से होने वाली मौतें अन्‍य देशों की तुलना में बेहद कम हैं। भारत में मृत्‍युदर में लगातार सुधार हो रहा है।

    भारत में कोरोना वायरस की जांच पर विशेष ध्‍यान दिया जा रहा है। प्रतिदिन लाखों सैंपल टेस्‍ट किए जा रहे हैं। भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद (ICMR) के मुताबिक, 21 दिसंबर तक 16,31,70,557 सैंपल टेस्‍ट किए जा चुके हैं। वहीं, बीते 24 घंटों की बात करें, तो 10,72,228 सैंपल टेस्‍ट किए गए हैं। भारत कोरोना वायरस की जांच में सिर्फ अमेरिका से पीछे हैं, जहां सबसे ज्‍यादा कोरोना संक्रमित मरीज है।

    कोरोना वायरस का नया रूवरूस बहुत तेजी से फैल रहा है। लंदन स्थित इंपीरियल कॉलेज के डॉ. एरिक वोल्ज ने कहा कि नया स्ट्रेन बहुत तेजी से फैल रहा है। इस पर नजर बनाए रखने की जरूरत है। उधर, ब्रिटिश सरकार के मुख्य वैज्ञानिक सलाहकार पैट्रिक वालेंस ने कहा कि इसकी मौजूदगी अन्य देशों में भी हो सकती है, लेकिन इसकी शुरुआत ब्रिटेन से हुई है। हालांकि, इस बीच, भारतीय मूल के अमेरिकी डॉक्टर विवेक मूर्ति ने कहा है कि फिलहाल ऐसा कोई प्रमाण नहीं मिला है कि नया स्ट्रेन ज्यादा घातक है।