हाथरस गैंगरेप मामले में मीडिया को गांव में प्रवेश की मिली इजाजत, पीड़िता की भाभी ने कहा, ‘कल यहां कोई एसआईटी की टीम नहीं आई’

    489

    हाथरस गैंगरेप मामले में सरकार और यूपी पुलिस की फजीहत होने के बाद मीडिया को पीड़ित परिवार से बात करने की अनुमति मिल गई है। पीड़िता की भाभी ने इस दौरान मीडिया से बातचीत में कहा कि वह और उनका परिवार नार्को टेस्ट नहीं कराएगा क्योंकि वह झूठ नहीं बोल रहे हैं। इसी के साथ उन्होंने डीएम और एसपी के भी नार्को टेस्ट की मांग की। परिवार का आरोप है कि पुलिस वाले धमकाते थे, बोलते थे कि कोरोना से मरती तो मुआवजा नहीं मिलता।

    अपर मुख्य सचिव गृह अवनीश अवस्थी और डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी आज हाथरस जाएंगे। दोनों पीड़ित परिवार से मुलाकात करेंगे। वहीं कांग्रेस नेता राहुल गांधी के दौरे को देखते हुए दिल्ली नोएडा डायरेक्ट फ्लाइवे टोल प्लाजा पर बैरिकेडिंग लगा दी गई है। राहुल गांधी आज दोपहर हाथरस जाने वाले हैं।

    पीड़िता की भाभी ने कहा, ‘कल यहां कोई एसआईटी की टीम नहीं आई थी। परसों पूछताछ हुई थी। डीएम साहब बोलते थे कि तुम्हारी बेटी अगर कोरोना से मर जाती तो क्या कर लेते। तब क्या मुआवजा मिलता।’

    पीड़िता की भाभी ने कहा, ‘हम सच बोल रहे हैं, हम नार्को टेस्ट नहीं कराएंगे। डीएम और एसपी का भी नार्को टेस्ट होना चाहिए। वे लोग झूठ बोल रहे हैं।’ पीड़िता की भाभी ने कहा, ‘पुलिस से पूछिए किसने बॉडी जलाई। हमने शव जलते हुए नहीं देखा। हमें नहीं पता किसका अंतिम संस्कार हुआ था।’ परिवार पर बार-बार बयान बदलने के लग रहे आरोपों पर पीड़िता की भाभी ने कहा, ‘जब पीड़िता खुद बोल रही है कि उसके साथ रेप हुआ तो वह झूठ कैसे हो सकता है।’