हरियाणा में शीतलहर के प्रकोप से राहत मिलने की अभी उम्‍मीद नहीं, यहां जानें मौसम विभाग का पूर्वानुमान

257
Weather update today

हरियाणा में ठंड रोजाना रिकॉर्ड तोड़ रही है. हालांकि, शनिवार को मौसम सुबह से ही बिल्कुल साफ रहा. सूर्य देव के दर्शन हुए. तेज धूप निकलने से लोगों को ठंड से आंशिक राहत मिली है, लेकिन रात के तापमान में गिरावट आने की वजह से ठंड प्रचंड होती जा रही है. ठंड के साथ शीतलहर ने परेशानी में डाला हुआ है. हालांकि, दिन में खिली धूप से राहत मिली है.

एक बार फिर पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो सकता है. जनवरी में पश्चिमी विक्षोभ का यह तीसरा चक्र होगा, लेकिन पिछले दोनों सिस्टम से यह कमजोर होगा. इसका ज्यादा प्रभाव देखने को नहीं मिलेगा. हरियाणा, दिल्ली और एनसीआर में 3 फरवरी को बादल जरूर छा सकते हैं. बरसात की संभावना बहुत कम है. आमतौर पर जब उत्तर भारत में कोई सक्रिय पश्चिमी विक्षोभ आते हैं, तब उत्तर पश्चिमी दिशा से मैदानी इलाकों की तरफ आने वाली सर्द हवाओं का रुख बदल जाता है.

हवाओं की गति धीमी हो जाती है. इससे पंजाब, हरियाणा, दिल्ली और उत्तर प्रदेश में जारी सर्दी में कमी आती है. लेकिन, यह सिस्टम कमजोर भी है. इसके साथ ही यह जम्मू-कश्मीर के उत्तर से हो कारण उत्तर पश्चिमी सर्द हवाओं को रोकने में अपनी भूमिका नहीं निभा पाएगा. वहीं ऐसे हालात में पंजाब, हरियाणा, दिल्ली एनसीआर में शीतलहर का प्रकोप अगले दो से तीन दिन तक जारी रह सकता है.

केंद्रीय मृदा लवणता अनुसंधान संस्थान के मुताबिक अभी पाला गिर सकता है, क्योंकि जब भी न्यूनतम तापमान 5.0 डिग्री से नीचे रहता है. पाला जमने की संभावना बनी रहती है. शनिवार को अधिकतम तापमान 18.8 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया, वहीं न्यूनतम तापमान भी गिरावट के साथ 4.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. हवा 3.5 किलोमीटर प्रतिघंटा की औसत रफ्तार से चली, जो शीतलहर में तब्दील हो गई. मौसम विभाग के मुताबिक, आने वाले 24 घंटे में ठंड और अधिक बढ़ सकती है. सुबह के समय धुंध भी देखी जा सकती है.