वीर सावरकर पर बयान देना राहुल गाँधी को पड़ा महंगा, बढ़ सकती हैं मुश्किलें..

112
rahul
rahul

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी की ओर से भारत जोड़ो यात्रा के दौरान महाराष्ट्र के आकोला में वीर सावरकर पर की गई विवादित टिप्पणी मामले में उनकी मुश्किलें बढ़ती जा रहीं हैं। राहुल गांधी के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज कराने की मांग वाली अर्जी को एमपी-एमएलए कोर्ट ने परिवाद के रूप में दर्ज करने का आदेश दिया है। विशेष एसीजेएम अंबरीश कुमार श्रीवास्तव ने मामले में वादी नृपेंद्र पांडे का बयान दर्ज करने की लिए नौ जनवरी की तारीख तय की है।

दरअसल याचिकाकर्ता नृपेंद्र पांडे की ओर से वकील मनोज प्रेमी व शैलेंद्र कुमार यादव ने कोर्ट में अर्जी देकर आरोप लगाया है कि राहुल गांधी ने 17 नवंबर 2022 को अकोला, महाराष्ट्र में सार्वजनिक मंच से वीर सावरकर पर आपत्तिजनक टिप्पणी की, उन्होंने रंजिश पैदा करने के लिए सार्वजनिक मंच से वीर सावरकर की अमर्यादित आलोचना की। इस मामले में एसीजीएम कोर्ट ने हजरतगंज पुलिस से रिपोर्ट मांगी थी। जिसके बाद अब कोर्ट ने बयान दर्ज करने के लिए नौ जनवरी की तारीख दी है।