स्वतंत्रा दिवस समारोह के लिए गृह मंत्रालय ने जारी किए दिशानिर्देश, जानें कोरोना काल में कैसी होगी व्यवस्था

89

देश में कोरोना वायरस के मामलों में लगातार वृद्धि हो रही है। इसकी वजह से सभी तरह के सार्वजनिक कार्यक्रमों पर रोक लगी हुई है। वहीं, स्वतंत्रता दिवस को लेकर तैयारियां जोरों पर हैं। इस बार लाल किले की प्राचीर से जब प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी देश के नाम संबोधन देंगे तब वहां कम ही मेहमान नजर आएंगे। 

ऐसे में केंद्रीय गृह मंत्रालय ने स्वतंत्रता दिवस समारोह के लिए कोविड-19 के मद्देनजर दिशानिर्देश जारी किए हैं। मंत्रालय ने सभी सरकारी कार्यालयों, राज्यों, राज्यपालों आदि से कहा है कि वे सार्वजनिक आयोजन से बचें और समारोहों के लिए प्रौद्योगिकी का उपयोग करें। इस बार बहुत कम मेहमानों को स्वतंत्रता दिवस के मौके पर निमंत्रण दिया गया है। इस बार परेड में स्कूली बच्चे भी नजर नहीं आएंगे।
गृह मंत्रालय के संयुक्त सचिव अनुज कुमार ने सभी राज्यों और केंद्र शासित प्रदेशों को पत्र लिखकर बताया कि 15 अगस्त को जश्न कैसे मनाएं। पत्र में कहा गया है कि हर साल, स्वतंत्रता दिवस भव्यता, उल्लास और उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस वर्ष भी, स्वतंत्रता दिवस को शानदार तरीके से मनाया जाएगा, लेकिन कोरोना महामारी के चलते कई कार्यक्रमों या गतिविधियों का आयोजन करते समय कुछ सुरक्षात्मक कदमों को ध्यान में रखना होगा। 

इस दौरान जगह-जगह हैंड सैनिटाइजर रखे जाएंगे। सभी के लिए मास्क पहनकर आना जरूरी होगा। बैठने की अलग व्यवस्था होगी और दो गज की दूरी सुनिश्चित की जाएगी। माना जा रहा है कि केंद्रीय मंत्रियों, वरिष्ठ अधिकारियों के अलावा कोरोना योद्धाओं को भी न्योता दिया जा सकता है।

गृह मंत्रालय की ओर से जारी अधिसूचना में कहा गया है कि लाल किले में होने वाले समारोह में प्रधानमंत्री को गार्ड ऑफ ऑनर, 21 तोपों की सलामी, प्रधानमंत्री का भाषण और राष्ट्रगान शामिल होगा।

सूत्रों के अनुसार प्रधानमंत्री के 15 अगस्त को देश के नाम संबोधन में ‘आत्मनिर्भर भारत अभियान’, कोरोना वैक्सीन, सीमा सुरक्षा और कोरोना की लड़ाई में स्वदेशी अभियान ने किस तरीके से बढ़-चढ़कर कदम उठाया है, इन विषयों का जिक्र हो सकता है। लाल किले के आसपास तैनात पुलिसकर्मी पीपीई किट पहने हुए दिखाई देंगे।

मेहमानों के बीच बैठने की दूरी को बढ़ाया जाएगा। हर साल लाल लाल किले पर स्वतंत्रता दिवस समारोह के मौके पर लगभग एक हजार के करीब विशेष अतिथि बुलाए जाते हैं लेकिन इस बार ऐसा नहीं होगा। इस साल संख्या को 250 के करीब ही रखा जाएगा। 15 अगस्त की दोपहर को राष्ट्रपति भवन में जो ‘एट होम’ कार्यक्रम होता है उसमें भी कोरोनानियमों का ध्यान रखा जाएगा। इसके अलावा थीम कोरोना योद्धाओं को समर्पित की जाएगी।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here