मौसम विभाग का अपडेट, दिल्ली, मुंबई, UP, MP में भारी बारिश का अलर्ट

425

दिल्ली में जबरदस्त बारिश के बाद मौसम विभाग ने अगले दो से तीन दिन और अच्छी बारिश की संभावना जताई है. गुरुवार को दिल्ली-NCR के इलाकों में इस मॉनसून की सबसे अच्छी बारिश हुई. वहीं, मुंबई और आसपास के इलाकों में भी मूसलाधार बारिश हुई. मौसम विभाग की मानें तो बारिश का यह सिलसिला अगले दो-तीन दिन तक पूरे देश में जारी रहेगा.

भारत मौसम विज्ञान विभाग (IMD) ने अपने पूर्वानुमान में बताया है कि देश के ज्यादातर हिस्सों में अगले दो-तीन दिन भारी से बहुत भारी बारिश हो सकती है. मौसम विभाग ने बताया कि उत्तरी ओडिशा और पश्चिम बंगाल के तट के पास बंगाल की खाड़ी पर कम दबाव का क्षेत्र बना हुआ है. दक्षिणी-पश्चिमी हवाओं के कारण देश के ज्यादातर हिस्सों में अगले दो दिन तक मूसलाधार बारिश होने की संभावना है.

उत्तर प्रदेश में बीते 24 घंटे के दौरान अधिकांश जगहों पर मॉनसून सक्रिय रहा और प्रदेश के अनेक हिस्सों में भारी से बहुत भारी वर्षा हुई. मौसम विभाग ने बताया कि पश्चिमी उप्र में कुछ जगहों पर भारी बारिश हुई, जबकि राज्य में कई जगहों पर गरज के साथ तेज बारिश हुई.

मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि शुक्रवार को उत्तर प्रदेश में कहीं-कहीं मूसलाधार बारिश होने का अनुमान है जबकि अधिकांश जगहों पर गरज के साथ पानी बरसने की संभावना है.उत्तर प्रदेश में मूसलाधार बारिश के कारण एक कच्चे मकान की दीवार गिरने से एक परिवार के दो लोगों की मौत हो गई जबकि दो अन्य घायल हो गए.

बिहार में बाढ़ से अबतक 25 लोगों की मौत हो चुकी है जबकि 16 जिलों की 77,77,056 आबादी इससे प्रभावित है. बिहार के सीतामढ़ी, शिवहर, सुपौल, किशनगंज, दरभंगा, मुजफ्फरपुर, गोपालगंज, पूर्वी चम्पारण, पश्चिम चंपारण, खगडिया, सारण, समस्तीपुर, सिवान, मधुबनी, मधेपुरा एवं सहरसा जिले के 128 प्रखंडों के 1,282 पंचायतों की 77,77,056 आबादी बाढ़ से प्रभावित हैं जहां से सुरक्षित जगहों पर ले जाए गए 5,47,804 लोगों में से 12,479 लोगों को सात राहत शिविरों में शरण लिए हुए हैं.

बिहार के बाढ़ प्रभावित इन जिलों में बचाव और राहत कार्य चलाए जाने के लिए NDRF और SDRF की कुल 33 टीमों की तैनाती की गई है. बिहार के इन जिलों में बाढ़ का कारण अधवारा समूह नदी, लखनदेई, रातो, मरहा, मनुसमारा, बागमती, अधवारा समूह, कमला बलान, गंडक, बूढ़ी गंडक, कदाने, नून, वाया, सिकरहना, लालबेकिया, तिलावे, धनौती, मसान, कोशी, गंगा, करेह एवं धौंस नदी के जलस्तर का बढना है. जल संसाधन विभाग से प्राप्त जानकारी के मुताबिक बागमती नदी सीतामढी, मुजफ्फरपुर एवं दरभंगा में, बूढी गंडक नदी समस्तीपुर एवं खगड़िया में, खिरोई दरभंगा में और घाघरा नदी सिवान में बृहस्पतिवार को खतरे के निशान से उपर बह रही है.

मध्य प्रदेश के 8 जिलों में मौसम विभाग ने बहुत भारी बारिश के अनुमान को लेकर ‘ऑरेंज अलर्ट’ जारी किया है. मौसम विभाग के बयान के अनुसार, हिमाचल प्रदेश, उत्तराखंड, पंजाब, हरियाणा, चंडीगढ़, दिल्ली, उत्तर प्रदेश और पूर्वी राजस्थान सहित उत्तरी भारत के कुछ हिस्सों में अगले दो दिन तक बारिश होने की संभावना है. वहीं अगले 4-5 दिन तक गुजरात, गोवा, कोंकण और मध्य महाराष्ट्र के कुछ हिस्सों सहित पश्चिम भारत में भारी से बहुत भारी बारिश का अनुमान है.

मौसम विभाग के अनुसार, सुबह साढ़े बजे तक आयानगर मौसम केन्द्र में 99.2 मिमी बारिश दर्ज की गई. वहीं, पालम और रिज मौसम केन्द्र में क्रमश: 93.6 मिमी और 84.6 मिमी बारिश दर्ज की गई. सफदरजंग वेधशाला में 68 मिमी बारिश दर्ज की गई. बारिश के 15 मिमी से कम होने पर उसे हल्की, 15 से 64.5 मिमी के बीच होने पर मध्यम और 64.5 मिमी से अधिक होने पर भारी बारिश की श्रेणी में रखा जाता है.

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here