चीन को आर्थिक मोर्चे पर मात देने की भारत की तैयारी, आत्मनिर्भर भारत के लिए नितिन गडकरी का फॉर्मूला

89

आत्मनिर्भर भारत के प्रयास को बढ़ावा देने के लिए, केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी ने शनिवार को उद्योगों से आयात, विशेष रूप से चीन से आयात पर निर्भर क्षेत्रों की पहचान करने और भारत को शक्तिशाली देश बनाने के लिए स्वदेशी उत्पादन की दिशा में विकल्पों की तलाश करने का आग्रह किया।
तीन साल के आयात और निर्यात पर आधारित केस स्टडी पर जोर देते हुए गडकरी ने कहा कि चीन का 70 प्रतिशत निर्यात दस क्षेत्रों से जुड़ा है, जिसमें 671 अरब डॉलर मूल्य की इलेक्ट्रिकल मशीनरी और उपकरण के निर्यात का 26.09 प्रतिशत और 417 अरब डॉलर मूल्य के कंप्यूटर उपकरण के निर्यात का 10.70 प्रतिशत भी शामिल हैं।सड़क परिवहन, राजमार्ग और एमएसएमई मंत्री गडकरी ने सीआईआई के एक कार्यक्रम ‘भारत @ 75 शिखर सम्मेलन – मिशन 2022’ को संबोधित करते हुए उद्योगों से आग्रह किया कि वे महानगरों और विकसित शहरों से परे ग्रामीण, दूर-दराज और आदिवासी क्षेत्रों में उद्योगों का एक नेटवर्क और उपक्रमों का एक जाल बिछाएं।
जिस पर पहले कभी किसी का ध्यान नहीं गया। गडकरी ने कहा कि मुझे इस बात का दुख है कि उद्योग निकायों का 90 प्रतिशत ध्यान बड़े शहरों और महानगरों के प्रमुख उद्योगों पर है। ग्रामीण, आदिवासी और दूरदराज के क्षेत्रों पर कोई ध्यान नहीं दिया गया है। अब इसे बदलने की जरूरत है, भारत को शक्तिशाली बनाने के लिए क्षेत्रवार योजना बनाने की जरूरत है।  

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here